ससुरालियों पर एफआईआर दर्ज कराने शव लेकर थाने पहुंचे परिजन:उपचार के दौरान गर्भवती महिला की मौत, मायके पक्ष का आरोप- ससुरालीजन ने जहर पिलाकर मारा

गोहद22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पूजा राठौर - Dainik Bhaskar
पूजा राठौर

ससुरालियों पर एफआईआर दर्ज कराने शव लेकर थाने पहुंचे परिजन, हंगामा गोहद के छत्तपुरा निवासी एक महिला की ग्वालियर में रविवार की सुबह 8 बजे उपचार के दौरान मौत हो गई। पुलिस ने मृतका के शव का पीएम कराया है। साथ ही परिजन गोहद थाना में ससुरालीजन के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए शव लेकर पहुंच गए। उनका आरोप था कि ससुरालीजन ने उनकी बेटी को जहरीला पदार्थ पिलाया था, जिससे उसकी मौत हो गई। ग्वालियर में मौत होने के बाद परिजन ससुरालियों पर एफाआईआर दर्ज कराने के लिए गोहद थाने में मृतका का शव लेकर पहुंच गए, जहां उन्होंने पुलिस पर अभद्रता का आरोप लगाया, जिसके बाद हंगामा भी हुअा। वहीं एसडीओपी का कहना था कि केेस डायरी आने के बाद प्रकररण दर्ज किया जाएगा।

ग्वालियर के मुरार निवासी रामकेस राठौर ने बताया कि उन्होंने वर्ष 2018 में अपनी बहन पूजा राठौर की शादी छत्तपुरा निवासी सोनू राठौर के साथ की थी। शादी के बाद से ही ससुराल वाले उनकी बहन को दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगे। वहीं जुलाई के महीने में जब उनकी बहन गर्भवती थी। तब ससुराल वालों ने उसे जहरीला पदार्थ पिला दिया, जिससे उसकी हालत बिगड़ गई। उन्होंने इस बात की शिकायत भी गोहद थाना में की थी।

वहीं जहरीले पदार्थ की वजह से उनकी बहन के गर्भ में पल रहे बच्चे की भी मौत हो गई थी। 25 वर्षीय पूजा का मायके पक्ष के लोग खुद ग्वालियर में इलाज करा रहे थे। रविवार की सुबह 8 बजे उपचार के दौरान पूजा की मौत हो गई। पुलिस ने मृतका के शव का पीएम कराकर परिजन के सुपुर्द किया। शाम के समय मायके वाले मृतिका के शव गोहद थाना पहुंच गए। उनकी मांग थी कि ससुरालीजन पर कार्रवाई की जाए।

ग्वालियर से रिपोर्ट आने पर दर्ज करेंगे मामला
"हम ग्वालियर से रिपोर्ट आने के बाद ही मामला कायम करेंगे। हमें 2 दिन का समय दे दो। आपका पक्ष पहले से ही मजबूत है क्योंकि मृतका के पति के खिलाफ 498 का केस पहले से ही दर्ज है।"
-सौरभ कुमार, एसडीओपी गोहद
हमारी लड़की चली गई, थाने में एफआईआर नहीं कर रहे

"पुलिस हमसे संतोषजनक बात नहीं कर रही। एक तो हमारी बच्ची खत्म हुई उसके बावजूद सब लोग हमसे गाली गलौज कर रहे हैं। अगर मामला कायम नहीं किया तो हम डेड बॉडी लेकर नहीं जाएंगे।"
-रामकेश राठौर, मृतका का भाई

खबरें और भी हैं...