गोहद की पंचायत में तालाब की जगह लहलहा रही ‌फसल:नाबालिग छात्र-छात्राओं व आंगनवाड़ी सहायिका को मजदूर दिखाकर निकाले रुपए

गोहद (भिंड)15 दिन पहले

गोहद जनपद पंचायत में तालाब निर्माण के नाम के भ्रष्टाचार का मामला सामने आया है। यहां ग्राम पंचायत चंदोखर में जिस जमीन पर तालाब निर्माण करना बताया है, इस समय वहां धान की फसल लहलहा रही है। तालाब सहित मनरेगा के अन्य निर्माण कार्यों में पंचायत द्वारा नाबालिग छात्र-छात्राओं व आंगनवाड़ी सहायिका को मजदूर दिखाकर रुपए निकाले हैं।

गांव के लोगों ने पूर्व सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक एवं वर्तमान सचिव पर धन के दुरुपयोग का आरोप लगाया है। ग्रामवासियों ने एसडीएम के नाम ज्ञापन सौंपकर जांच कर कार्रवाई की मांग की है। शिकायत कर्ताओं ने बताया कि चंदोखर पंचायत में मनरेगा के काम में स्कूल में पढ़ने वाले शेखर पुत्र गजेंद्र (15), राखी पुत्री विजय सिंह (14), भावना पुत्री विजय सिंह (16), अभय (17), राधा (14), लक्ष्मी (17), सुधीर (14), आकाश (16) को मजदूर दिखाकर पंचायत के खाते से रुपए निकाले हैं।

शौचालय और सड़क निर्माण में भी गड़बड़ी

ग्राम पंचायत के मजरा चक चंदोखर पर पदस्थ आंगनवाड़ी सहायिका संगीता पत्नी विजय सिंह को भी मजदूर दिखाकर रुपए निकाले हैं। ज्ञापन में उपयंत्री एवं सहायक यंत्री ने मूल्यांकन कर लाखों रुपए के भ्रष्टाचार को बढ़ाने का काम किया है। ग्राम पंचायत में रमेश के खेत के पास तालाब जिसमें मौके पर धान की फसल खड़ी है। परमाल के खेत में तालाब बनाने के लिए राशि निकाली गई है। जबकि मौके पर यहां तालाब बने ही नहीं हैं। ऐसे अनेक उदाहरण हैं। ग्रामीणों ने आरोप लगाया तो स्वच्छ भारत के अंतर्गत कई शौचालय व मनरेगा योजना में कई संदूर संपर्क रोड, नाला, पुल निर्माण कार्य कागजों में दिखाया गया है। लोगाें ने आरोप लगाए कि इनके फर्जी मस्टर रोल डालकर मजदूरों की राशि निकाल लिया है। ज्ञापन सौंपने वाले अनिल सिंह तोमर, अजीत सिंह तोमर, धर्मेंद्र सिंह भदौरिया इत्यादि ग्रामवासी है।

मामले की शिकायत करते ग्रामीण।
मामले की शिकायत करते ग्रामीण।

जांच कराएंगे

पंचायत में हुए भ्रष्टाचार की शिकायत ज्ञापन देकर की है, जिसकी जल्द ही जांच दल के माध्यम से जांच कराई जाएगी।

- शुभम शर्मा, एसडीएम गोहद।

पंचायत की शिकायत मिली है 18 वर्ष से कम आयु का युवा मजदूर नहीं हो सकता है। जांच की जाएगी।

- जगमोहन गोयल, निरीक्षक जनपद पंचायत गोहद।

खबरें और भी हैं...