• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • 81 People Have Become Victims Of Dengue In The District, 20 New Patients Were Found In A Week

भिंड में डेंगू का दंश:जिले में तीन महीने में 81 लोग हो चुके डेंगू के शिकार, एक सप्ताह में 20 नए मरीज मिले

भिंड7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जिला अस्पताल का डेंगू वार्ड। - Dainik Bhaskar
जिला अस्पताल का डेंगू वार्ड।

भिंड जिले में डेंगू का प्रकोप दिनोंदिन बढ़ता जा रहा है। भिंड जिले में 3 महीने में 81 मरीज आ चुके है। पिछले एक सप्ताह में जिला अस्पताल में 20 नए मरीज भर्ती हुए है। बढ़ते डेंगू मरीजों को लेकर जिला प्रशासन की सांसे फूलने लगी है।

ग्वालियर में डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही भिंड प्रशासन पूरी तरह से सर्तक हो चुका है। भिंड के जिला अस्पताल में इन दिनों 30 मरीज उपचार ले रहे है। हर रोज नए केस या दो आ रहे है। दो रोज पहले छह नए केस आए थे। इस तरह से मरीजों की बढ़ती संख्या की वजह से जिला प्रशासन ज्यादा फॉगिंग कराने पर जोर दे रहा है। जिला मलेरिया विभाग की टीम हर रोज गांव-गांव पहुंच रही है। लोगों के कूलर व जलभराव के स्थानों पर डेंगू का लार्वा नष्ट किए जाने का काम चल रहा है। जिला में डेंगू नष्ट करने के लिए 109 टीमें सक्रिय है। यह टीमों द्वारा हर रोज जलभराव का स्थान चिह्नित करके दवा डाली जा रही है।

सबसे ज्यादा गोहद ब्लॉक प्रभावित

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक सबसे ज्यादा डेंगू पीड़ित मरीज गोदह ब्लॉक से आ रहे है। अब तक तीस से अधिक मरीज गोहद ब्लॉक के जिला अस्पताल में भर्ती हुए है जहां उन्हें उपचार के लिए भर्ती किया गया है। गोहद ब्लॉक में डेंगू का प्रकोप बढ़ने से बचाव को लेकर स्थानीय नगर पालिका के कर्मचारी सक्रिय हो चुके है। यहां डेंगू के लार्वा नष्ट किए जाने के लिए स्वास्थ्य विभाग की टीम काम कर रही है। मच्छरों को नष्ट किए जाने के लिए फागिंग मशीन से कीटनाशक का छिड़काव कर रही है। इसके बाद दूसरा नंबर भिंड ब्लॉक का है। यहां भी लगातार डेंगू के मरीज निकल रहे है। इन मरीजों का उपचार भिंड में किया जा रहा है। परंतु स्थानीय नगर पालिका द्वारा जलभराव के क्षेत्रों के मुक्त कराने और फागिंग करने में लापरवाही बरती जा रही है।

इन दिनों आ रहे डेंगू के मरीज

जिला अस्पताल के सिविल सर्जन डॉ अनिल गोयल के मुताबिक इन दिनों डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। इन मरीजों का उपचार करके ठीक किया जा रहा है। लोगों को डेंगू से बचाव के लिए उचित प्रबंध करके रखना चाहिए।

सामान्य रूप से देखे जाने वाले डेंगू के लक्षण:

  • मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द
  • शरीर पर पड़ने वाले लाल निशान जो थोड़े समय बाद ठीक होने के बाद पुनः वापस भी आ जाते हैं
  • तेज़ बुखार
  • बहुत तेज़ सिर दर्द
  • आँखों के पीछे दर्द
  • उल्टी आना और चक्कर महसूस होना।

इस तरह के लक्षण होने पर तत्काल चिकित्सक से परामर्श करें।

डेंगू से बचाव के लिए यह करें उपाय

  • अपने आस पास के इलाकों को स्वच्छ बनाए। गंदगी व पानी को न रूकने दें।
  • पानी को किसी जगह इकठ्ठा न होने दें।
  • कूलर, गमलों, पुराने टायरों में रूके हुए पानी को निकाल दें। इन स्थानों पर डेंगू मच्छर का लार्वा पनपता है।
  • गमलों के पानी को हर हफ्ते बदलते रहें। मेनहोल, सेप्टिक टैंक, रुकी हुई नालियाँ और कुएं आदि जगहों को नियमित रूप से चेक करते रहें।
  • दिन में भी फुल कपड़े पहनें। डेंगू का मच्छर दिन में ही ज्चादा हमला करता है।
  • सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें।