पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • Administration Claims Hollow Thousands Of Quintals Of Wheat Kept In Open At Procurement Centers, Wet By Rain In Night

गोहद में प्रशासन की अनदेखी:प्रशासन के दावे खोखले- खरीदी केंद्रों पर खुले में रखा हजारों क्विंटल गेहूं रात में हुई बारिश से भीगा

भिंडएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोहद के हरिगोविंद पुरा खरीदी केंद्र में खुले में रखा गेहूं, जो रात में हुई बारिश में भीग गया। अब यही गेहूं वेयर हाउस में रखा जाएगा। - Dainik Bhaskar
गोहद के हरिगोविंद पुरा खरीदी केंद्र में खुले में रखा गेहूं, जो रात में हुई बारिश में भीग गया। अब यही गेहूं वेयर हाउस में रखा जाएगा।
  • गोहद के हरगोविंद पुरा, छींमका, गोहद चौराहा, चितौरा खरीदी केंद्र पर हुई बर्बादी
  • गेहूं भीगने के जिम्मेदारों ने साधी चुप्पी

पिछले पांच-छह दिनों से बादलों की आसमान में लुका-छुपी चल रही थी। जिसके चलते मौसम जानकार भी बारिश होने की संभावना जता चुके थे। शुक्रवार देर शाम गोहद क्षेत्र के आसमान में घने काले बादल छा गए, जो रात होते ही बरस पड़े। गोहद सहित ग्रामीण इलाकों में करीब40 मिनट तक जोरदार बारिश हुई। जिसके कारण क्षेत्र के चार उपार्जन केंद्र पर खुले में रखा हजारों क्विंटल गेहूं भींग गया। जानकारों के अनुसार भींगने से गेहूं सड़ने की पूरी आशंका है। जिससे गेहूं अनुपयोगी हो जाएगा। वहीं जिम्मेदार अधिकारी इस बारे में कुछ भी बोलने से परहेज कर रहे हैं।

गौरतलब है कि इन दिनों किसानों से अनाज को खरीदने के लिए प्रशासन द्वारा गोहद क्षेत्र में हरगोविंद पुरा, फतेहपुर, चितौरा, गोहद चौराहा,छींमका, नौनेरा, शेरपुर, टेटोन, रायतपुरा गेहूं खरीदी केंद्र बनाए गए हैं। जिसमें हरगोविंद पुरा, गोहद चौराहा, छींमका, चितौरा खरीदी केंद्र खुले आसमान के नीचे संचालित हो रहे हैं, जहां पर किसानों से लिया गया गेहूं खुले आसमान के नीचे रखा जा रहा है। प्रशासन ने खरीदी केंद्र बनाने से पहले सुरक्षा के पूरे इंतजाम करने के दावे किए थे, ताकि किसी भी प्रकार की प्राकृतिक आपदा से बचा जा सके। लेकिन शुक्रवार रात में हुई बेमौसम बरसात ने प्रशासन के दावों की पोल खोल कर रख दी।

किसान बोले- 8 दिन से खरीदी केंद्र पर रुके हैं, तौल का नंबर नहीं आया
कचनपुर गांव के किसानों ने शनिवार को एसडीएम शुभम शर्मा को शिकायती आवेदन देते हुए खरीदी केंद्र नौनेरा के सचिव पर कार्रवाई करने की मांग की है। किसान विजय बहादुर सिंह, जितेंद्र सिंह,बेताल सिंह आदि ने एसडीएम को जानकारी देते हुए बताया कि उपार्जन केंद्र नोनेरा पर करीब 8 दिन से रुके हुए हैं, लेकिन तौल नहीं हो रही।

सेवा सहकारी संस्था नोनेरा के समिति प्रबंधक लापरवाह हैं। इसके अलावा हम लोग खुले आसमान में अपनी फसल को लेकर तौल शुरू होने का इंतजार कर रह हैं। ऐसे में बारिश होती है तो हमारा गेहूं खराब हो जाएगा। वहीं केंद्र पर कोरोना से बचाव के लिए केंद्र पर न सैनिटाइजर की सुविधा है, न ही किसानों की स्क्रीनिंग की जा रही है। वहीं पानी की सुविधा नहीं होने से घर से पानी लेकर आना पड़ता है।

भीगन की वजह से सड़ जाएगा गेहूं
कृषि जानकारों का कहना है कि प्रशासन की लापरवाही के कारण हरगोविंद पुरा, गोहद चौराहा,छींमका, चितौरा खरीदी केंद्रों पर बारिश के कारण हजारों क्विंटल गेहूं भींगा, अगर समय रहते प्रशासन द्वारा गेहूं का परिवहन गोदामों तक करा दिया जाता तो गेहूं भींगने से बच जाता है। बोरों में भरा हुआ गीला गेहूं अब नमी के कारण सड़ने लगेगा, जो बाद में किसी काम का नहीं रहेगा।

मामले की जांच कराई जाएगी
^जिन केंद्रों पर किसानों से पैसे मांग जा रहे हैं। इसकी जांच कराई जाएगी। किसानों को कोई परेशानी न हो इसके लिए निर्देश दिए जाएंगे। वहीं अभी खरीदी केंद्र के बाहर रखे गेहूं का परिवहन जल्द कराया जाएगा।
शुभम शर्मा, एसडीएम, गोहद

किसानों ने कर्मचारियों पर लगाया तौल के नाम पर पैसे मांगने का आरोप
हरगोविंद पुरा, फतेहपुर, चितौरा, गोहद चौराहा,छींमका, नौनेरा, शेरपुर, टेटोन, रायतपुरा गेहूं खरीदी केंद्रों पर बचने के लिए अपनी गेहूं की फसल लेकर पहुंचने वाले किसानों पे खरीदी केंद्रों के सचिवों के ऊपर तौल के नाम पर पैसे मांगने का आरोप लगा रहे हैं। शनिवार को नौनेरा खरीदी केंद्र पर मौजूद किसान वकील सिंह बताया कि मैं 3 मई को केंद्र पर गेहूं बेचने के लिए लेकर आया हुआ था। मेरा गेहूं पास भी हो चुका है।

लेकिन अभी तक मेरी फसल की तौल नहीं हुई है। इस दौरान खरीदी केंद्र सचिव से तौल कराने की बात की तो वे पैसे की मांग करते हैं। इसी क्रम में कंचनपुरा निवासी हितेंद्र सिंह ने बताया कि मुझे केंद्र पर आए हुए सात दिन हो चुके हैं। लेकिन मेरी फसल की तौल अभी तक नहीं हुई है, पिछले सात दिन से यहीं पर रुका हुआ हैं। इस दौरान सचिव से तौल जल्द कराने के लिए कहा तो उन्होंने जबाव देते हुए कहा कि अगर तौल जल्द कराना है तो इसके लिए तुम्हें पैसा देना होगा।

खबरें और भी हैं...