ऊमरी में मौत:वैक्सीन लगवाने के बाद तबीयत बिगड़ी, 9 वें दिन वृद्ध की मौत

भिंड8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • परिजन बोले- ऑक्सीजन लगाने में देरी करने से गई मरीज की जान

ऊमरी के 68 वर्षीय वृद्ध की वैक्सीन लगवाने के 9 दिन बाद मौत हो गई। उन्हें सर्दी, जुकाम, बुखार के साथ सांस लेने में भी तकलीफ हो रही थी। इसलिए उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सोमवार की दोपहर उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। परिजन का आरोप है कि पैरामेडिकल स्टाफ द्वारा समय पर ऑक्सीजन न दिए जाने से उनकी मौत हुई है। सोमवार की देर रात उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

यहां बता दें कि ऊमरी निवासी महेश नारायण श्रीवास्तव (68) पुत्र कैलाश नारायण श्रीवास्तव ने 3 अप्रैल को कोरोना वैक्सीन लगवाई थी। इसके बाद उन्हें हल्का बुखार आना शुरू हुआ था। एक दो दिन घर पर दवाएं लेने के बाद जब उन्हें आराम नहीं मिला तो 10 अप्रैल की शाम चार बजे उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। वहीं अस्पताल में आने के बाद उन्हें सांस लेने में भी तकलीफ बढ़ गई। ऐसे में अस्पताल प्रबंधन कोरोना संक्रमण के संदेह में उनका सैंपल लेकर आरएटी किट से जांच की गई, जिसमें उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई।

वहीं अस्पताल प्रबंधन ने उनका एक सैंपल आरटी-पीसीआर जांच के लिए ग्वालियर मेडिकल कॉलेज भेजा था। सोमवार को रिपोर्ट आने से पहले दोपहर के समय उनकी हालत फिर से बिगड़ी। उन्हें ऑक्सीजन पर लिया गया था। परिजन की मानें तो दोपहर 2 से 2.30 बजे के बीच उनका आक्सीजन सिलेंडर खत्म हो गया। वे नर्स को बुलाने गए। लेकिन नर्सेस खाना खा रही थी। उन्होंने कहा कि थोड़ी देर में आकर देखते हैं। वहीं जब तक वे लौटकर आई तब तक उनकी मौत हो चुकी थी।

लापरवाही हुई है तो कार्रवाई होगी
हमें इस संबंध जानकारी है कि किसी कोरोना संदिग्ध की मौत इलाज में लापरवाही की वजह से हुई है। यदि ऐसा है तो दोपहर के स्टाफ को कल बुलाकर जानकारी ली जाएगी। यदि लापरवाही आती है तो संबंधित पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।
- डॉ अनिल गोयल, सिविल सर्जन, भिंड

खबरें और भी हैं...