भिंड के रूरई गांव में हत्याकांड:तीन दिन बाद हत्या आरोपी के सुराग तक नहीं जुटा सकी आलमपुर पुलिस

भिंड14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
घटना स्थल का फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
घटना स्थल का फाइल फोटो

भिंड जिले के रूरई गांव में रविवार की रात्रि एक युवक की खेत पर गायों की रक्षा के लिए लगाए गए बाड़ को लेकर की जाती है। इस बात की सूचना पर पुलिस आधा घंटे बाद वारदात की पड़ताल में जुट गई। पुलिस ने हर आरोपियों के पकड़ने के लिए हर प्रयास में जुटी हुई है। हालांकि अब तक की पुलिस की तलाश कुएं में बांस जैसी रही। पुलिस हत्या आरोपियों को तीन दिन बाद नहीं नहीं पकड़ सकी।

रविवार की रात करीब दस बजे रुरई गांव में गजेंद्र सिंह पुत्र अमरसिंह चौहान ने अपने खेतों के आगे कांटेदार झाड़ (बाड़ा) लगा दिया। ये युवक ने गायों से फसल की रक्षा के लिए झाड़ लगाया था। इससे गांव के कुछ लाेगों के खेतों पर आने जाने का रास्ता रूक रहा था। इसी विवाद के चलते कल्ली चौहान, गंभीर सिंह चौहान, सुरेंद्र सिंह चौहान और टिल्लू उर्फ त्रिभुवन सिंह चौहान पुत्र बनाम सिंह के साथ विवाद हो गया। इसी समय कल्ली ने कट्टे से गजेंद्र में गोली मार दी थी। इसके बाद पुलिस मौके पर पहुंची। शव को पीएम हाउस में रखवाते हुए पुलिस ने आरोपियों की तलाश में जुट गई थी। इस मामले में भिंड जिले की लहार अनुविभाग की दो थानों की पुलिस मौके पर पहुंची है। हत्याकांड के बाद आरोपी परिवार समेत फरार हो जाते है। इस हत्याकांड में चार सगे भाइयों को पुलिस ने आरोपी बनाया। पुलिस अब तक एक भी आरोपी का सुराग नहीं लगा सकी। हत्याकांड के बाद जैसे जैसे घंटे बीतते गए, पुलिस की भागदौड़ की गति भी वैसे वैसे धीमी होती जा रही है।