पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जिला आबकारी कार्यालय में पत्र दिया:अंबाला पुलिस ने मांगे ग्वालियर डिस्टलरी के सीसीटीवी फुटेज

भिंडएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हरियाणा की अंबाला पुलिस ने भिंड जिले के आबकारी विभाग ने ग्वालियर डिस्टलरी के सीसीटीवी फुटेज और ईएनए सप्लाई का ब्यौरा मांगा है। मंगलवार को अंबाला की सीआईए (क्राइम इंनेस्टीगेशन एजेंसी) के अफसरों ने इस संबंध में जिला आबकारी अधिकारी कार्यालय में पत्र दिया है। वहीं जिला आबकारी अधिकारी आरके तिवारी का कहना है कि उन्हें पत्र प्राप्त हुआ है। जो जानकारी उनके द्वारा मांगी गई है, वह एकत्रित कराई जा रही है।

अंबाला की सीआईए ने 25 जून की रात शाहपुर बसस्टैंड के पास पिपली की ओर से आ रहे पंजाब नंबर के एक टैंकर पकड़ा था, जिसमें 25 हजार लीटर ईएनए (एक्सट्रा न्यूट्रल अल्कोहल) ले जाया जा रहा है। टैंकर के चालक चंदन भारती से जब अंबाला सीआईए ने बिल बिल्टी, परमिट, पास आदि दस्तावेज मांगे, तो उसने 19 जून को जारी टैक्स इनवाइस, ई-वे बिल, विनायक डिस्टलरी प्राइवेट लिमिटेड इंडस्ट्रीयल एरिया फेस वन चंडीगढ़ और 12 जून की तारीख के बाबा दीप सिंह कारगो शहीद उदम सिंह कॉलोनी निवी अबादी गेट खजाना अमृतसर द्वारा जारी दो बिल्टियां पेश की।

बिल बिल्टी पर सेनेटाइजर लिखा था। वहीं एक्सट्रा न्यूट्रन अल्कोहल के संबंध में फार्म-37/38 उसके पास नहीं था। ऐसे में अंबाला सीआईए ने जांच के बाद 1 जुलाई को भिंड आकर इटावा रोड पर संचालित ग्वालियर डिस्टलरी के मैनेजर राज कुमार दुबे निवासी घाटिया अजमत अली, इटावा उत्तरप्रदेश को पकड़ लिया। साथ ही दो दिन बाद 3 जुलाई को न्यायालय में पेश कर उसे पांच दिन की रिमांड पर ले लिया।

दस्तावेज भी मांगे

बता दें कि ग्वालियर डिस्टलरी में ईएनए के साथ आरएस (रेक्टीफाइल स्प्रिट) का निर्माण होता है। वहीं अंबाला पुलिस को शक है कि जो ईएनए उन्होंने पकड़ा है वह इसी फैक्ट्री से निकला है। हालांकि अंबाला पुलिस इस फैक्ट्री के मैनेजर को पहले ही पकड़ चुकी है। वहीं अब इस मामले की सटीक पुष्टि के लिए फैक्ट्री पर लगे सीसीटीवी कैमरा के फुटेज और यहां जाने वाले ईएनए का रिकार्ड मांगा है।

नहीं उठाया फोन

जब इस संबंध में सहायक आबकारी अधिकारी सैय्यद अली मोहम्मद खान से संपर्क करना चाहा गया तो उन्होंने फोन नहीं उठाया। दरअसल खान इस फैक्ट्री की निगरानी के लिए पर शासनस्तर से उनकी तैनाती है। वहीं अंबाला पुलिस द्वारा फैक्ट्री की कार्यप्रणाली सवाल खड़े किए जाने के बाद अब वे कुछ भी बोलने से बच रहे हैं।

खबरें और भी हैं...