पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • Checking Of Mineral Vehicles Did Not Stop Near Chambal Bridge, Danger Of Collapsing Due To High Pressure

एनएच-719:चंबल पुल के पास बंद नहीं हुई खनिज वाहनों की चेकिंग, ज्यादा दबाव से धराशायी हाेने का खतरा

भिंड22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
रात के समय चंबल पुल पर खड़े रेत से भरे डंपर। - Dainik Bhaskar
रात के समय चंबल पुल पर खड़े रेत से भरे डंपर।
  • चंबल पुल ओवरलोड वाहनों के आवागमन से हो रहा जर्जर, भारी वाहनों पर रोक नहीं
  • चेकिंग से ओवरलोड वाहन पुल पर खड़े रहते हैं, इसलिए खतरा

उत्तर प्रदेश प्रशासन हाईवे के चंबल पुल के पास खनिज वाहनों की चेकिंग बंद नहीं कर रहा है, जिससे इस पुल के धराशायी होने का खतरा बना हुआ है जबकि यूपी पीडब्लूडी के राष्ट्रीय मार्ग खंड के अधिकारी इस संबंध में कई बार अफसरों को चेतावनी दे चुके हैं।

बता दें कि एनएच 719 पर मध्यप्रदेश और उत्तरप्रदेश की सीमा को जोड़ने वाला बरही के निकट स्थित चंबल पुल भारी वाहनों के दबाव के चलते क्षतिग्रस्त हो रहा है। साल 1970 के आसपास बना यह पुल आए दिन क्षतिग्रस्त हो जाता है। 21 खंभों पर टिके इस पुराने पुल की लंबाई करीब 600 मीटर है। हर साल दो साल में पुल के किसी न किसी हिस्से में कोई गड़बड़ी पैदा होती है, जिसके चलते कई बार पुल पर वाहनों का आवागमन प्रशासन को रोकना पड़ा। इसी के चलते मई महीने में उत्तरप्रदेश लोक निर्माण विभाग के राष्ट्रीय मार्ग खंड के अधिशासी अभियंता ने भिंड और इटावा के एसपी को इस संबंध में पत्र भी लिखा था, जिसमें उन्होंने पुल पर भारी वाहनों के आवागमन पर रोक लगाने की बात कही थी लेकिन भारी वाहनों का आवागमन रोकना तो दूर बल्कि चंबल पुल के पास यूपी पुलिस द्वारा खनिज वाहनों की चेकिंग शुरू कर उस पर दबाव और अधिक बढ़ाया जा रहा है, जिससे पुल कभी भी क्षतिग्रस्त हो सकता है।

रात के समय यूपी पुलिस करती है चेकिंग: भिंड-इटावा रोड से बड़ी संख्या में रेत, गिट्टी का परिवहन करने वाले वाहन गुजरते हैं। ऐसे में यूपी पुलिस जानबूझकर रात के समय चंबल पुल के निकट खनिज परिवहन करने वाले वाहनों की चेकिंग करती है। मंगलवार की रात 8 बजे से यूपी पुलिस ने फिर से चेकिंग शुरू की जो कि अलसुबह करीब 4 बजे तक चली। इस चेकिंग के दौरान पुल पर रेत, गिट्टी से भरे वाहनों के थम गए। पूरी रात पुल पर यह वाहन रेंगते हुए गुजरे, जिससे पुल पर दबाव बढ़ गया।

क्वारी पुल भी हो रहा जर्जर

भिंड इटावा रोड पर स्थित सिर्फ चंबल पुल ही नहीं, बल्कि डिडी के पास स्थित क्वारी नदी का पुल भी ओवरलोड वाहनों से क्षतिग्रस्त हो रहा है। वहीं प्रशासन ने अब तक क्वारी नदी पर नया पुल बनाने की कोई कार्य योजना नहीं बनाई है। जबकि यह पुल भी यदि क्षतिग्रस्त होता है तो भिंड से इटावा के साथ फूप की दूरी भी दोगुना बढ़ जाएगी।

225 करोड़ से बनना है पुल

भिंड इटावा रोड पर बरही के निकट यूपी सरकार द्वारा वहां एक नया फोरलेन पुल बनाने का प्रस्ताव तैयार किया है। करीब 225 करोड़ रुपए की लागत से यहां नया पुल बनाया जाएगा। इसके लिए राष्ट्रीय मार्ग खंड पीडब्लूडी के अफसरों ने जगह भी देख ली है लेकिन अब तक धरातल पर नए पुल निर्माण का कार्य शुरू नहीं हो सका है।

चेकिंग से एक पट्टी पर बंद हो जाता है ट्रैफिक

यूपी में खनिज वाहनों की चेकिंग से एमपी में चंबल पुल से लेकर फूप तक हाईवे की एक पट्टी पर ट्रैफिक जाम हो जाता है। वहीं दूसरी पर टू-वे ट्रैफिक होने की वजह से भी ट्रैफिक जाम के हालात निर्मित होने लगते हैं। इससे अन्य यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

दो दिन पहले ही हुई है चंबल पुल की मरम्मत

पुल पर डली लोहे की स्लैब उखड़ने के कारण दो दिन पहले ही चंबल पुल की मरम्मत हुई थी। बावजूद मंगलवार बुधवार की रात यूपी में चेकिंग की वजह से पुल पर काफी संख्या में रेत गिट्टी से भरे ट्रक उस पर खड़े रहे, जिससे उसके फिर से खराब होने की आशंका बढ़ गई है।

खबरें और भी हैं...