• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • Domestic And Foreign Liquor Was Being Made In Bhind Of Chambal, Haryana And Rajasthan Were Supplied

पुलिस ने शराब की अवैध फैक्टरी पकड़ी:चंबल के भिंड में बन रही थी देसी-विदेसी शराब, हरियाणा-राजस्थान में होती थी सप्लाई

भिंड12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस ने घर से शराब पकड़ी। - Dainik Bhaskar
पुलिस ने घर से शराब पकड़ी।

चंबल संभाग के भिंड जिले के गोरमी थाना पुलिस ने मानहड़ गांव में छापामार कार्रवाई कर दो घरों से शराब की फैक्टरी पकड़ी। यहां देशी विदेशी शराब को तैयार की जाती थी। शराब को राजस्थान-हरियाणा में सप्लाई की जा रही थी। यहां तैयार होने वाली शराब के रैपर, पैकेजिंग मशीन समेत अन्य मशीनरी बरामद हुई। पुलिस ने मौके से देशी-विदेशी शराब की 75 पेटी जब्त की। पुलिस को दोनों घरों से करीब दस लाख से अधिक का माल बरामद हुआ। मौके पर पुलिस को दो युवक मिले जिसमें एक व्यक्ति को पुलिस ने पकड़ लिया जबकि दूसरा चकमा देकर भाग निकला। मानहड़ गांव में बीस साल बाद पुलिस की बड़ी कार्रवाई होना बताई जा रही है।

गोरमी थाना प्रभारी सुरेश चंद्र शर्मा ने बताया पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि मानहड़ में शराब का अवैध कारोबार बड़े स्‍तर पर चल रहा है। सूचना मिलते ही दलबल के साथ थाना प्रभारी मानहड़ के लिए रवाना हो गए। गांव में पुरुषोत्तम सिंह भदौरिया के घर पर दबिश दी। यहां कमरों में 8 पेटी मेकडबल अंग्रेजी शराब, 8 पेटी हंटर वीयर, 12 पेटी फ्रूटी शराब, 47 पेटी देशी मसाला मदिरा प्‍लेन जब्‍त की। पकड़ी गई शराब की कीमत 10 लाख रुपए बताई जा रही है। पुलिस ने घर से वारदाना भी जब्‍त किया है। जिसमें पैकिंग के ढक्‍कन, रैपर, 50 लीटर ओपी, पैकिंग करने की मशीन, थर्मामीटर के साथ खाली क्‍वार्टर भी बरामद किए हैं। मौके से दूसरा आरोपी पिंटू सिंह भदौरिया भाग निकला।

घर में चल रही थी फैक्‍टरी

मकान में शराब बनाने का जकीरा मिलने के बाद पुलिस ने जब तलाशी की तो देखा गया कि आरोपी देशी मदिरा बनाते थे। जिसकी पैकिंग करके वह अंग्रेजी शराब के साथ बेचते थे। आरोपी फ्रूटी एमडी और मेकडबल अंग्रेजी शराब हरियाणा से आयात करता था, वहीं फ्रूटी एमडी शराब राजस्‍थान से आती थी। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर मामले की जांच शुरू कर दी है। इस कार्रवाई में एसआई सुनील सिकरवार, एसआई वैभव तोमर, सुरेश शुक्‍ला, कौशलेंद्र सिंह, रामअवतार सिंह सहित अन्य पुलिसकर्मियों ने छापामार कार्रवाई से पहले दोनों घरों को घेर रखा था।

वर्ष 2001 के बाद बड़ी कार्रवाई

भिंड जिले का माहड़न गांव शराब तस्करी, अवैध हथियारों समेत अन्य अवैध कामों होते रहे। वर्ष 2001 में तात्कालीन एसपी गाजीराम मीणा ने माहड़न गांव पर छापामार कार्रवाई की थी। इसके बाद अवैध कामों पर रोक लगी थी। गोरमी थाना प्रभारी शर्मा के मुताबिक माहड़न गांव में बीस साल बाद शराब का बड़ा कारोबार हाथ लगा है। इस में दो लोगों को आरोपी बनाया गया है। एक को पकड़ लिया गया है, जबकि दूसरे की तलाश जारी है।

खबरें और भी हैं...