• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • Fake Milk Factory At Home In Bhind, Door Opened 1 Hour After Officers Arrived, Case Against Operator

महिला ने नाली में बहाया मिलावटी मिल्क:भिंड में घर पर नकली दूध की फैक्ट्री, अफसरों के पहुंचने के 1 घंटा बाद खोला दरवाजा, संचालक पर केस

भिंड6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एक महिला और युवक ने छापेमारी के डर से मिलावटी दूध को नाली में बहा दिया। मामला चंबल संभाग के भिंड जिले का है। दरअसल, पुलिस और खाद्य विभाग की टीम रविवार को मेहगांव पहुंची थी, जहां एक घर में नकली दूध की फैक्ट्री चल रही थी। यहां शैंपू, रिफाइंड और अन्य केमिकल मिलाकर नकली दूध बनाया जा रहा था। छापा टीम के आने की खबर लगते ही डेयरी संचालक के घर की महिला और एक युवक ने दरवाजा बंद कर लिया और मिलावटी दूध और उसमें मिलाने वाला केमिकल नाली में बहा दिया। पुलिस ने सैंपल लेकर आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया है।
साल भर पहले भी मारा गया था छापा, तब भाग गया था डेयरी मालिक
फूड इंस्पेक्टर रीना बंसल और रेखा सोनी ने रविवार को मेहगांव थानाक्षेत्र के ग्राम रवियापुरा में देवनारायण पुत्र मुन्ना सिंह नरवरिया के यहां छापा मारा। एक साल पहले भी यहां कार्रवाई की गई थी, तब डेयरी मालिक भाग गया था। रविवार को जब पुलिस के साथ टीम यहां पहुंची, तो मुन्ना सिंह नरवरिया के परिवार को इसकी पहले से खबर लग गई। उसने घर का दरवाजा बंद कर लिया। अफसरों ने गेट खोलने के लिए कहा, लेकिन नहीं खोला। करीब एक घंटे बाद गेट खोला गया। तब तक घर के अंदर मौजूद महिला और युवक ने तैयार मिलावटी दूध और केमिकल को नाली में बहा दिया।

मौके पर पहुंची टीम ने दूध के सैंपल लिए।
मौके पर पहुंची टीम ने दूध के सैंपल लिए।

फूड अफसरों ने नाली में घोल फेंके जाने का वीडियो बनाया
फूड अफसरों ने खिड़की से मिलावटी दूध (माल्ट्रोडेक्सट्रिन पाउडर, हाइड्रोजन, कच्चा पाम ऑयल, रिफाइंड, शैंपू, एथेनॉल) का घोल फेंके जाने के वीडियो भी बना लिए। इसके बाद जब गेट खोला, तो छानबीन शुरू हो सकी। मौके पर दो कैन में 40-40 किलो दूध मिला। वहीं, एक बड़े बर्तन में तैयार घोल भी मिला। अफसरों ने मौके पर मिले दूध समेत अन्य सामग्री जैसे रिफाइंड के सैंपल लिए हैं। इसके बाद धोखाधड़ी की धारा में मेहगांव थाना में केस दर्ज करा दी।

सरपंच भी बचाव में उतरा
कार्रवाई की सूचना पर गांव के सरपंच भी आ गया। सरपंच ने दूध कारोबारी का बचाव किया। साथ ही, कार्रवाई न करने की बात कही। इस पर फूड इंस्पेक्टर रीना बंसल ने उन्हें बीच में नहीं पड़ने की हिदायत दी।

सितंबर से अब तक 61 नमूने लिए
फूड सेफ्टी विभाग ने मिलावट खोरों पर शिकंजा कसते हुए सितंबर से नवंबर (अब तक) 61 नमूने, घी, मावा, पनीर, दूध के लिए हैं। इसके अलावा, सितंबर महीने में दो FIR, अक्टूबर में छह और नवंबर में अब तक तीन केस दर्ज कराए जा चुके हैं।

खबरें और भी हैं...