• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • Half A Dozen Trains Will Run On Gwalior Bhind Etawa Route, Jhansi Kanpur Single Line Is Being Doubled

झांसी-कानपुर लाइन की ट्रेनों का रूट बदला:ग्वालियर- भिंड-इटावा रूट पर दौड़ेंगी आधा दर्जन ट्रेन, झांसी-कानपुर सिंगल लाइन को किया जा रहा डबल

3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भिंड स्टेशन का सीन। - Dainik Bhaskar
भिंड स्टेशन का सीन।

ग्वालियर-भिंड- इटावा लाइन को इलेक्ट्रिक किए जाने होने के बाद पहली बार आधा दर्जन ट्रेनें दौड़ेंगी। यह ट्रेनें झांसी-कानपुर सिंगल लाइन पर काम चलने की वजह से रूट परिवर्तन किए जाने के कारण निकाली जाएगी। इन ट्रेनों का स्टॉपेज भिंड नहीं रहेगा। हालांकि यह अस्थाई व्यवस्था के तौर पर चलाई जा रही हैं।

इन दिनों झांसी-कानपुर सिंगल लाइन के दोहरीकरण का काम चल रहा है। इसके चलते इस रूट की ट्रेनों काे डायवर्ट किया गया है। जिसके चलते कई ट्रेनें ग्वालियर-भिंड-इटावा होते हुए निकलेंगी। शनिवार को 05024 वाइपीआर से गोरखपुर एक्सप्रेस को निकालकर रूट का ट्रायल लिया गया। यह ट्रेन 25 सितंबर को भी भिंड स्टेशन से होकर निकलेगी। इस तरह से बरौनी-ग्वालियर एक्सप्रेस सहित अन्य ट्रेनों का 28 सितंबर तक इस रूट पर आवागमन होगा।

बता दें कि झांसी-कानपुर सिंगल लाइन सेक्शन पर चौराहा, पुखराया और मलासा स्टेशनों के बीच लाइन का दोहरीकरण किए जाने को लेकर एनआइ वर्क (नॉन इंटर लोकिंग वर्क) इस वजह से ट्रेन भिंड-ग्वालियर-इटावा स्टेशन से होकर मार्ग परिवर्तित करके 18 से 28 सितंबर तक चलेंगी। 05023 गोरखपुर से यशवंतपुर एक्सप्रेस 28 सितंबर को भिंड स्टेशन से गुजरेगी, 02099 पुणे-लखनऊ एक्सप्रेस 22 सितंबर को, 02100 लखनऊ-पुणे 22 सितंबर, 04185 ग्वालियर-बरौनी एक्सप्रेस 19 सितंबर से 28 सितंबर तक वहीं 04186 बरौनी-ग्वालियर एक्सप्रेस 19 से 28 सितंबर तक इस रूट से होकर निकलेगी। हालांकि डायवर्ट की गई ट्रेनों में से एक भी ट्रेन भिंड स्टेशन पर नहीं रुकेगी।

कोरोना काल के बाद पटरी पर नहीं लौटीं ट्रेन

कोरोना काल शुरू होने के बाद भिंड-इटावा रूट पर दौड़ने वाली ट्रेनें नियमित नहीं हो सकी हैं। अभी इक्का दुक्का ट्रेनें ही चल रही हैं। इसी बीच रेलवे मंडल द्वारा ग्वालियर से इटावा तक रूट पर इलेक्ट्रिक लाइन का काम भी पूरा कर लिया है। इस का फायदा रेलवे मंडल को रूट परिवर्तन के बाद मिल रहा है। हालांकि ट्रेनों का स्टोपेज भिंड में न होने से स्थाई लोगों को कोई फायदा मिलने वाला नहीं है। वहीं इस रूट पर कोरोना काल में बंद होने वाली ट्रेनें चालू होने का भिंड, ग्वालियर व इटावा के हजारों पेसेंजरों को इंतजार है।

खबरें और भी हैं...