पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • Last Year, He Returned Home After Spending The Entire Capital, Now That The Same Situation Was Seen, Then He Remembered The House

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना और घातक:पिछले साल पूरी जमापूंजी खर्च कर घर लौटे थे, अब वही हालात बनते दिखे तो फिर घर की याद आई

भिंड14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आज शाम 6 बजे से सोमवार की सुबह 6 बजे तक रहेगा लॉकडाउन

कोरोना वायरस के संक्रमण की रफ्तार बढ़ते ही एक बार फिर से प्रवासियों (घर छोड़कर दूसरे शहरों में काम करने वाले) के मन दहशत फैल गई है। अब वे पुन: अपना कामकाज छोड़कर घर वापस आने लगे हैं। दिल्ली, गुजरात और महाराष्ट्र से आने वाली बसों में हर रोज बड़ी संख्या में लोग लौटकर आ रहे हैं।

वहीं मजदूरी करने वाले लोग पैदल ही घर की मंजिल तय करने लगे हैं। गुरुवार की दोपहर नेशनल हाईवे- 719 की भिंड ग्वालियर रोड पर मालनपुर के पास ऐसे ही कई परिवार पैदल जाते हुए नजर आए। वहीं गुरुवार को जिले में कोरोना से एक युवक की मौत हो गई। जबकि 23 नए मरीज मिले हैं।
यहां बता दें कि पिछले साल कोरोना संक्रमण की रफ्तार रोकने के लिए सरकार ने अचानक 25 मार्च को लॉकडाउन लगा दिया था। इसके बाद करीब डेढ़ लाख लोग दूसरे शहरों से लौटकर भिंड जिले में आए थे। इनमें बड़ी संख्या में ऐसे लाेग भी थे, जिन्हें घर पहुंचने के लिए अनाप-शनाप पैसे खर्च करने के बाद भी कोसों पैदल चलना पड़ा था। इस दर्द को वे अब तक भुला नहीं पाए हैं। वहीं इस साल पुन: कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए लोग घर लौटने लगे हैं।
कोरोना संक्रमित युवक की दिल्ली में मौत, एक दिन में 23 मरीज मिले, अस्पताल प्रबंधन ने भी बढ़ाई पलंगों की संख्या

पिछली बार पैदल आए थे इसलिए पहले ही चले आए
गोहद निवासी अशोक राजपूत बताते हैं कि वे मुंबई में एक होटल में नौकरी करते हैं। पिछली बार जब लॉकडाउन लगा तो 15 हजार रुपए उनके किराए में खर्च हो गए। बावजूद कई जगह पैदल भी चलना पड़ा। नवंबर में लगा कि अब माहौल शांत है तो पुन: मुंबई पहुंचे। लेकिन वहां अब फिर से मरीज मिल रहे थे। इसलिए इस बार लॉकडाउन लगने से पहले ही एक अप्रैल को लौट आए।
अब यहीं रहकर कुछ कामकाज करेंगे
गोहद के माणिक चौक निवासी राहुल जोशी नागपुर में एक होटल में नौकरी करते हैं। राहुल ने बताया कि पिछली बार कई किलोमीटर उन्हें पैदल चलना पड़ा। साथ ही 10 किलोमीटर के उन्हें 1 हजार रुपए किराया दिया। 10 दिन में वे अपने घर आ पाए। नवंबर में वापस नागपुर गए थे। लेकिन अब फिर से वहां नए मरीज मिलने लगे हैं। इसलिए लौट आए। अब यहीं कुछ कामकाज करेंगे।
पिछली बार भूखे रहे, पैदल चले, तीन दिन में पहुंचे थे
गोहद के वार्ड क्रमांक 12 बड़ा बाजार निवासी समद खान ने भीलभाड़ा में पेंटिंग का काम करते हैं। पिछली बार कई किलोमीटर उन्हें पैदल चलना पड़ा। तीन दिन में घर पहुंच पाए थे। इस दौरान उन्हें भूखा भी रहना पड़ा था। दिसंबर महीने में ही वे लौटकर पुन: भीलभाड़ा गए थे। लेकिन इस बार फिर से वहां कोरोना के मरीज बढ़ने लगे हैं। इसलिए चार दिन पहले वापस घर लौट आए हैं।

संक्रमित की दिल्ली में मौत, परिजन के लिए सैंपल
रौन में दुर्गा वाटिका संचालक श्यामू भारद्वाज (32) पुत्र मुन्ना भारद्वाज के कोरोना पॉजिटिव होने के बाद गुरुवार को दिल्ली में उपचार के दौरान मौत हो गई। उनकी मौत की सूचना मिलने पर रौन बीएमओ ने स्वास्थ्य विभाग की टीम को उनके घर भेजकर परिवार के लोगों के सैंपल कराए हैं। साथ ही मौहल्ले के लोगों की भी स्क्रीनिंग कराई गई है। बताया जा रहा है कि श्यामू की चार दिन पहले सर्दी, खांसी, जुकाम, बुखार आया था। परिजन ने उन्हें जिला अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से उन्हें ग्वालियर रैफर किया गया। ग्वालियर से भी उन्हें दिल्ली रैफर कर दिया गया। जहां उनकी जांच कराई गई, जिसमें वे पॉजिटिव आए।
मरीज बढ़ते ही अस्पताल में बढ़ाई पलंगों की संख्या
जिले में एक बार फिर से कोरोना के मरीज बढ़ने के बाद अस्पताल में पलंगों की संख्या बढ़ा दी गई है। फरवरी महीने में मरीज मिलना कम हुए तो अस्पताल प्रबंधन ने कोविड वार्ड में सिर्फ 20 पलंग छोड़ दिए थे। लेकिन मार्च से मरीजों की संख्या में तेजी आने के बाद फिर से 120 पलंग कोविड मरीजों के लिए आरक्षित कर दिए है, जिसमें से 45 अस्पताल के विभिन्न वार्डाें में, 15 आईसीयू और 60 पलंग पुर्नवास केंद्र में हैं। जबकि निजी अस्पताल में कोरोना मरीजों के उपचार की कोई सुविधा नहीं है। वहीं सीएमएचओ डॉ अजीत मिश्रा के अनुसार अस्पताल में भी कोरोना मरीजों को सिर्फ एंटी बायोटिक और एंटी वायरल दवाएं दी जाती है।

आज से 60 घंटे का लॉकडाउन, दवा, दूध, सब्जी सहित आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुली रहेंगी
इधर प्रदेश शासन के गृह अपर मुख्य सचिव डॉ राजेश के आदेशानुसार भिंड जिले में भी शुक्रवार की शाम 6 बजे से सोमवार की सुबह 6 बजे तक 60 घंटे का लॉकडाउन रहेगा। हालांकि इस दौरान माल व यात्री वाहन चलेंगे। साथ ही दवा, दूध, सब्जी सहित आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुली रहेंगी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी भी लक्ष्य को अपने परिश्रम द्वारा हासिल करने में सक्षम रहेंगे। तथा ऊर्जा और आत्मविश्वास से परिपूर्ण दिन व्यतीत होगा। किसी शुभचिंतक का आशीर्वाद तथा शुभकामनाएं आपके लिए वरदान साबित होंगी। ...

    और पढ़ें