भिंड जिला अस्पताल की सुरक्षा पर फिर सवाल:देर रात नर्स से अटेंडर ने धमकाते हुए झूमाझटकी की, बेहोश होकर गिरी

भिंड14 दिन पहले
जिला अस्पताल में नर्स बहोश कर भर्ती हुई।

भिंड जिला अस्पताल में कुछ महीने पहले एक नर्स का मर्डर हो गया था। इकसे बाद नर्सिंग स्टाफ को सुरक्षा दिए जाने के पुख्ता इंतजाम किए गए थे। इसके बाद भी जिला अस्पताल का स्टाफ सुरक्षित नहीं है। यहां नर्सिंग स्टाफ व अटेंडरों के बीच मारपीट व झूमाझटकी की घटना जारी है। शुक्रवार शनिवार की देर रात में जिला अस्पताल में अटेंडरों ने एक नर्स के साथ अभद्रता एवं झूमाझटकी की। इसके बाद नर्स बेहोश होकर वार्ड में गिर पड़ी। इसके बाद उसे आनन-फानन में इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराना पड़ा, लेकिन हैरत की बात है कि रात में कोई भी प्रशासन या चिकित्सा अधिकारी उसका हालचाल तक पूछने नहीं पहुंचा। हालांकि जिला अस्पताल के सिविल सर्जन पूरे मामले की पड़ताल कर रही थी।

यहां बता दें कि रात करीब 12:00 बजे प्रीति परिहार सर्जिकल वार्ड में ड्यूटी पर थी इसी दौरान कुछ अटेंडर नर्स के पास पहुंचे और मरीज को सही उपचार न देने का दबाव बनाने लगे विवाद इतना बढ़ा की अटेंडर के रूप में मौजूद दबंगों ने नर्स प्रीति परिहार को बुरा भला कहना शुरू कर दिया यहां तक कि उसके साथ झूमाझटकी कर दी। जिससे उसकी हालत बिगड़ गई। नर्स प्रीति वार्ड में गिर गई। मौके पर मौजूद दूसरे स्टाफ के सदस्यों ने नर्स को ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया। जांच के बाद चिकित्सकों ने ऑक्सीजन बॉडी में कम होने की शिकायत बताई। इसके बाद नर्स को ऑक्सजीन पर रखा गया। दिन में अस्पताल प्रबंधन ने नर्स व उसके परिजनों से बातचीत की और पूरे मामले की पड़ताल शुरू कर दी।

नर्स के बेहोश होते ही अटेंडर भागे

जिला अस्पताल में हंगामा होने के बाद जैसे ही नर्स की तबीयत बिगड़ी तो अटेंडर पर्चा लेकर अस्पताल से रफूचक्कर हो गए। इतना ही नहीं वह अपने मरीज को भी साथ ले गए हनन की नर्स प्रीति परिहार के प्रति ने इस मामले की शिकायत करने की बात कही है, लेकिन समाचार लिखे जाने तक पुलिस ने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की है साथ ही जिला चिकित्सा अधिकारी भी इस मुद्दे पर मौन नजर आए।

आवश्यक कार्रवाई की जाएगी

  • रात में जिन लोगों ने हंगामा किया और नर्स की तबीयत बिगड़ी, उनके खिलाफ कई कार्रवाई की जाएगी। स्टाफ के साथ गलत व्यवहार करने वाले को बख्शा नहीं जाएगा।

- डॉ अनिल गोयल, सिविल सर्जन, जिला अस्पताल