पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • More Infections Spread In The Town From The Village Near The Highway, More Than Ten Suspects Are Dying Every Day In The District

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

भिंड में कोरोना ने फैलाए पैर:हाइवे के पास के गांव और कस्बों में ज्यादा फैल रहा संक्रमण, हर रोज जिले में 10 से ज्यादा संदिग्ध की हो रही मौत

भिंड9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिले का हाइवे-719 किनारे बसे गांवों और नगर में कोविड का खतरा ज्यादा बना हुआ है। सबसे ज्यादा कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या भिंड ब्लॉक है। इसके बाद दूसरा स्थान गोहद ब्लॉक का है। इसके बाद मेहगांव और अटेर का स्थान है। इन क्षेत्रों के लोग ज्यादा संक्रमित ही नहीं हो रहे हैं, बल्कि बीमारी होकर संदिग्ध अवस्था में ज्यादा मौतें भी हो रही हैं। अब जिले धीरे-धीरे हॉटस्पॉट बनता जा रहा है।

जिले के गांव-गांव में संक्रमण फैल चुका है। अब तक 500 से अधिक लोग एक महीने में संक्रमण के शिकार हो चुके हैं। ज्यादातर मरीजों को होम आइसोलेशन में रखा जा रहा है। अति गंभीर मरीजों को ही हॉस्पिटल में उपचार के लिए लाया जा रहा है। हालात यह हैं, गांव से लेकर शहर तक लोग बढ़ी तादाद में बीमारी से पीड़ित हाे रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्र के लोग आठ से दस दिन तक सामान्य तौर पर घरेलू उपचार या आस पास के झोलाछाप से उपचार ले रहे हैं।

गोहद से भिंड तक ज्यादा फैल रहा संक्रमण

देखा जाए, तो इन दिनों पूरे जिले में 273 के आस पास मरीज कोरोना संक्रमित हैं। इसमें सबसे ज्यादा भिंड नगरीय क्षेत्र व ग्रामीण क्षेत्र (भिंड ब्लॉक) के लोग संक्रमित है। यहां संक्रमितों की संख्या करीब 119 है। इसके बाद दूसरा हॉट स्पॉट गोहद है। गोहद ब्लॉक में संक्रमित मरीजों की संख्या 55 है। इसके बाद तीसरा स्थान मेहगांव ब्लॉक का बना है। मेहगांव ब्लॉक में संक्रमित मरीज 38 है। यह तीनों ही हाईवे पर है और ग्वालियर से नजदीक है।

इस तरह इन क्षेत्रों के लोगों को लगातार ग्वालियर से आना जाना बना हुआ है, जहां से काेविड वायरस का संक्रमण आ रहा है। इसके बाद हाइवे पर बसा अटेर ब्लॉक का फूप कस्बा में भी अब तक अच्छी खासी संख्या में लोग संक्रमित हो चुके हैं। अटेर में एक्टिव केस 32 हैं। इसके बाद लहार ब्लॉक के लहार, दबोह व आलमपुर में एक्टिव मरीजों की संख्या 26 है। अब तक जिले का सबसे सुरक्षित एरिया रौन है। यहां एक्टिव मरीज तीन ही हैं।

ब्लॉकवार एक्टिव केस

  • - भिंड : 119
  • - गोहद : 55
  • - मेहगांव : 38
  • - अटेर : 32
  • - लहार : 26
  • - रौन : 03
  • - जिले में एक्टिव केस:- 273
  • -.जिले में कुल कंटेनमेंट ज़ोन:- 31
  • - नगरीय क्षेत्र में कंटेनमेंट जोन :- 22 ,
  • - ग्रामीण क्षेत्र में कंटेनमेंट जोन:- 9

जिले में मरने वालों की संख्या बढ़ी

इन दिनों गांव से लेकर शहरी क्षेत्र में मरने वालों की संख्या में इजाफा हो रहा है। अचानक होने वाली मौतों से लोगों सदमे में है। जिले में बीमार होकर मरीज उपचार दो से चार दिन तक घरेलु उपचार के नुस्खे अपनाते है। फिर नजदीकी की क्लीनिक में जाकर उपचार लेते है। इस तरह आठ से दस दिन में मरीज की हालत खराब हो जाती है। इस तरह से कई मरीजों की संदिग्ध हालात हो चुकी। इन मौतों की सूचना जिला प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग के पास नहीं है। जानकारों की मानें तो इस तरह पूरे जिले में आठ से दस मौतें हो रही है। इसके बाद भी जिले की व्यवस्था सामान्य बताई जा रही है।

बाहर से आने वालों से संक्रमण का ज्यादा खतरा

स्वास्थ्य विभाग से रिटायर्ड सीएमएचओ और एमडी मेडिसिन डॉ. विनोद सक्सेना का कहना है कि 15 मिनट तक लगातार मरीज के पास बैठने से और छह फीट की दूरी से कम पर से लोगों के आपस में मेल-मिलाप से कोविड वायरस का खतरा रहता है। यदि कोई संक्रमित या संदिग्ध है। ऐसे व्यक्ति, लोग के संपर्क में आता है, तो खतरा बना रहता है। जिले स्वास्थ्य संसाधन कम होने से जांच जिले में सीमित हो रही है। बाहर से आने वाले या घर से बाहर रहने वाले लोग ऐसे में स्वयं को होम क्वारैंटाइन रखें। मास्क को सही ढंग से लगाएं। नाक और मुंह ढक कर ही रखें। घबराएं नहीं। सबसे ज्यादा गोहद , मेहगांव और भिंड के लोगों को रहने की जरूरत है। इन क्षेत्रों में बाहर से आने वालों की संख्या ज्यादा रहती है, इसलिए संक्रमण इन क्षेत्रों में ज्यादा फैल रहा है।

महामारी को रोकने लिए संपूर्ण लॉकडाउन की जरुरत है

स्वास्थ्य विभाग से रिटायर्ड सीएमएचओ राकेश शर्मा का कहना है कि यह छूत का रोग है। इसके संचार को ब्रेक करना होगा। दो मनुष्य की दूरी बढ़ा दी जाए। अब जरूरत है संपूर्ण लॉकडाउन की। जब तक लॉकडाउन सख्ती से नहीं लगेगा, तब तक संक्रमण की चेन नहीं टूटेगी। ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों की मौत संदिग्ध अवस्था में हो रही है। जिले में स्वास्थ्य संसाधन सीमित हैं। इसलिए लॉकडाउन के बाद ही रोग को नियंत्रित किया जा सकता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज की स्थिति कुछ अनुकूल रहेगी। संतान से संबंधित कोई शुभ सूचना मिलने से मन प्रसन्न रहेगा। धार्मिक गतिविधियों में समय व्यतीत करने से मानसिक शांति भी बनी रहेगी। नेगेटिव- धन संबंधी किसी भी प्रक...

और पढ़ें