• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • Okha Gorakhpur Express And Suraj Muzaffarpur Express With Approved Goodshasan Express. Remove From Bhind

बैठक:स्वीकृत सुशासन एक्सप्रेस के साथ ओखा-गोरखपुर एक्सप्रेस और सूरज मुजफ्फरपुर एक्स. भिंड से निकालें

भिंड2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रयागराज में रेलवे बोर्ड की बैठक में भिंड के डायरेक्टर सुशील गुप्ता ने रखे प्रस्ताव

सात साल पहले 25 दिसंबर 2014 को पूर्व प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस पर सुशासन एक्सप्रेस गाड़ी क्रमांक 11111/12 को ग्वालियर, भिंड इटावा के रास्ते बलरामपुर तक चलाए जाने की स्वीकृति मिली थी। लेकिन यह गाड़ी आज तक इस ट्रैक पर नहीं चली है। इस गाड़ी को प्रारंभ किया जाए। ताकि पूर्व प्रधानमंत्री को सच्ची श्रद्धांजलि मिल सके।

साथ ही ओखा- गोरखपुर एक्सप्रेस गाड़ी क्रमांक 15045/46 और सूरत- मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस गाड़ी क्रमांक 19043/54 जो कि गुना,बीना, झांसी, ग्वालियर, आगरा होते हुए 262 किलोमीटर का फेर लेकर इटावा पहुंचती है। इन दोनों गाडियों को गुना, शिवपुरी, ग्वालियर, भिंड होते हुए इटावा के लिए डायवर्ट किया जाए। इनके प्रस्ताव भी रेल मंत्रालय को भेज दिए गए हैं। लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है।

यह बात रेलवे बोर्ड के डायरेक्टर और वरिष्ठ भाजपा नेता डॉ शुशील गुप्ता ने प्रयागराज में आयोजित रेलवे बोर्ड की बैठक में कही। डॉ गुप्ता ने भिंड रेलवे स्टेशन को विकास की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए बैठक में कई प्रस्ताव रखे। उन्होंने कहा कि भिंड से भोपाल के लिए काफी समय से गाड़ी चलाए जाने की मांग क्षेत्रीय जनता कर रही है। लेकिन आज तक आज तक रेलवे बोर्ड इस पर कोई उचित निर्णय नहीं लिया। जबकि इस गाड़ी के शुरु होने से यात्रियों को काफी सुविधा होगी। साथ ही विकास का एक माध्यम स्थापित होगा।

डॉ गुप्ता ने बैठक में बताया कि 2018 में झांसी से ग्वालियर इटावा होते हुए पटना के लिए साप्ताहिक समर एक्सप्रेस ट्रेन का संचालन किया गया था। लेकिन चार पांच महीने बाद उसे बंद कर दिया गया। जबकि इस ट्रेन में यात्रियों की भीड़ को देखते हुए इसके चक्कर भी बढ़ाए गए थे, जिससे रेलवे को आमदनी हुई थी। इस ट्रेन को भी पुनः चालू किया जाए।

डॉ गुप्ता ने कहा की ग्वालियर से इटावा टूंडला अलीगढ़ गाजियाबाद होते हुए दिल्ली के लिए ट्रेन चालू की जाए। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी के सपनों की रेल लाइन उदी बटेश्वर होते हुए ग्वालियर से भिंड, उदी, बटेश्वर, आगरा तक के लिए ट्रेन चलाई जाए। वहीं सुबह 11 बजे से शाम 6 बजे तक भिंड से कोई ट्रेन ग्वालियर के लिए नहीं है, इस समय अंतराल में कम से कम दो ट्रेन चालू की जाए ।

इटावा खड़ी रहती है ट्रेन, कानपुर तक भेजें
रेलवे बोर्ड की बैठक में डॉ गुप्ता ने वरिष्ठ रेलवे अधिकारियों का ध्यान आकर्षित कराते हुए कहा झांसी- इटावा लिंक एक्सप्रेस का स्टॉप शनिचरा, गोहद, फूफ और उदी में किया जाए। यह ट्रेन भिंड से इटावा 37 किलोमीटर का सफर तय करने में 1 घंटा 50 मिनट लगाती है। बावजूद इसके फूप और उदी में इसका स्टॉप नहीं है। वहीं रात के समय यह ट्रेन इटावा में खड़ी रहती है, जिसे यदि कानपुर तक बढ़ाया जाए तो झांसी, दतिया और डबरा के साथ ग्वालियर के यात्रियों को कानपुर तक की यात्रा करने में सहूलियत होगी।

उन्होंने मुंबई से वेस्टर्न लाइन होते हुए रतलाम, शिवपुरी, ग्वालियर, इटावा के रास्ते लखनऊ, गोरखपुर, पटना, गुवाहाटी के लिए ट्रेन है शुरू किए जाने की भी मांग रखी। उन्होंने यह भी कहा कि रतलाम-भिंड इंटरसिटी एक्सप्रेस, जिसका संचालन सप्ताह में तीन बार हो रहा है। इस गाड़ी को नियमित किया जाना चाहिए। वहीं यह ट्रेन भिंड स्टेशन पर सात घंटे खड़ी होती है। इसे भी कानपुर तक बढ़ाया जाना चाहिए।

खबरें और भी हैं...