पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • Organic Farming Is The Need Of The Hour: Pesticides Are Dissolving Poison In Our Food: Prof. Rao

वेबिनार में खेती पर विमर्श:कीटनाशक हमारे खाने में घोल रहे जहर जैविक खेती ही समय की मांग: प्रो. राव

भिंड19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कीटनाशक हमारे खाने में घोल रहे जहर जैविक खेती ही समय की मांग: प्रो. राव

एग्रोकेमिकल मानव स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। इससे पर्यावरण तो प्रभावित हो ही रहा है साथ ही मानव जीवन के लिए नुकसानदायक भी है। मानव जीवन को पेस्टिसाइड के उपयोग से होने वाली बीमारियों से बचाने के लिए जैविक खेती अपनाना ही होगी। आज के समय में जैविक खेती का मार्केट बढ़ रहा है किसान जैविक खेती कर अधिक मुनाफा कमा सकते हैं। यह बात राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय ग्वालियर के कुलपति प्रो. एसके राव ने वेबिनार में कही।

फार्मर प्रोड्यूसर ऑर्गनाइजेशन गोहद क्रॉप प्रोड्यूसर कंपनी द्वारा कीटनाशक युक्त जहरीली सब्जियां, अनाज तथा दूध से बने हुए उत्पाद मानव स्वास्थ्य कैसे प्रभावित करते हैं विषय पर आयोजित वेबिनार में कलेक्टर डॉ सतीश कुमार एस ने कहा कि पेस्टिसाइड युक्त सब्जियां व अनाज मानव जीवन के लिए हानिकारक हैं। कृषि विभाग ग्वालियर के संयुक्त संचालक डॉ आनंद कुमार बडोनिया ने बताया कि सभी जिलों में जैविक खेती को प्राथमिकता दी जा रही है। क्योंकि रासायनिक खेती मानव जीवन के लिए ही नहीं बल्कि पशुओं के लिए भी नुकसानदायक है।

दिल्ली के सीनियर चाइल्ड स्पेशलिस्ट डॉ. प्रदीप कनोजिया रसायनों के प्रयोग से बनी सामग्री से बड़ों के जीवन को तो प्रभावित करती ही हैं साथ ही बच्चों में भी अधिक नुकसान पहुंचाती है। कंपनी की चेयरमैन बाली सिंह ने बताया कि जिले में जैविक क्षेत्र बढ़ाने के प्रयास किए जा रहे हैं। वेबिनार में उप संचालक कृषि एसपी शर्मा, पशु चिकित्सा उप संचालक डॉ. एनएस सिकरवार, वैज्ञानिक डॉ राज सिंह कुशवाहा, डॉ पुनीत कुमार राठौर, डॉ चंदन कुमार, जगदीश सिंह नरवरिया आदि शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...