सड़क बनकर तैयार:15 मीटर की सड़क पर सिर्फ 7 मीटर डाली आरसीसी, दोनों तरफ छोड़ दी कच्ची सड़क

भिंड2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सालभर से खुदी पड़ी शास्त्री चौराहा से गौरी सरोवर किनारे को जाने वाली सड़क बनकर तैयार हो गई। एमपीयूडीसी (मध्यप्रदेश अर्बन डवलपमेंट डिपार्टमेंट) ने यह रोड बनाई है। लेकिन नगरपालिका की पूर्व उपाध्यक्ष अलका अजीत सिंह भदौरिया के घर से होटल लेक व्यू तक 15 मीटर चौड़ी सड़क पर सिर्फ सात मीटर सीसी डाली है।

जबकि सीसी के दोनों ओर 7-7 मीटर सड़क छोड़ दी गई है, जिससे न सिर्फ सड़क के दोनों ओर गड्ढे हो गए हैं। बल्कि बारिश में सड़क के दोनों पानी भरने से इसके जल्द खराब होने की संभावना बढ़ गई है। हालांकि नगरपालिका के इंजीनियरों का कहना है कि चुनाव के बाद सड़क के दोनों ओर पेवर ब्लॉक बिछाए जाएंगे।

बताया जा रहा है कि एमपीयूडीसी को शास्त्री चौराहा से पूर्व पार्षद अजीत सिंह भदौरिया के घर तक करीब 180 मीटर की सीसी रोड बनाना थी। इसी प्रकार से बसस्टैंड पर गुडलक बीयर बार से हेवतपुरा रोड पर 180 मीटर सीसी बिछाना थी। ऐसे में नगरपालिका ने टुकड़ों के बजाए शास्त्री चौराहा से होटल लेकर व्यू तक 360 मीटर एक साथ सीसी रोड यहां बिछवा दी।

लेकिन इसमें कमी यह रह गई कि एमपीयूडीसी सड़क बनाने के दौरान चौड़ाई 6 से 7 मीटर की लेकर चली। जबकि नगरपालिका की पूर्व उपाध्यक्ष अलका अजीत सिंह के घर से गौरी की ओर सड़क की चौड़ाई दोगुनी से ज्यादा है। लेकिन एमपीयूडीसी ने मध्य से सात मीटर की सीसी डाल कर काम की इतिश्री कर दी, जिससे यह सड़क बनने के ओर भद्दी लग रही है।

आचार संहिता समाप्त होने के बाद बनेंगी शहर की अन्य सड़कें
नगरीय निकाय चुनाव की आचार संहिता के प्रभावी होने से शहर की पांच मुख्य सड़कों का निर्माण कार्य शुरु होने से पहले रुक गया। बताया जा रहा है कि शहर के शास्त्री चौराहा से भीम नगर चौराहा होते हुए वेयर तक, रोडवेज बसस्टैंड से हेवतपुरा रोड, प्राइवेट बसस्टेंड से भूरा मठी होते हुए गौरी किनारे सहित पांच बड़ी सड़कें डामर की बनाई जाना है। अब इन सड़कों का निर्माण कार्य भी आचार संहिता समाप्त होने के बाद शुरु होगा।

चुनाव बाद पेवर ब्लॉक बिछाने की योजना, टेंडर भी लग चुके हैं
नगरपालिका इंजीनियर राजवीर सिंह ने बताया कि होटल लेक व्यू से मीट मंडी होते हुए रमसन्नी की डेयरी से गोल मार्केट तक डामर रोड बनाए जाने के लिए टेंडर लग चुके हैं। अब टेंडर चुनाव बाद खुलेंगे। इसके बाद आगे की सड़क की बनाई जाएगी। हाउसिंग कॉलोनी में सड़क का जो हिस्सा छूट गया है, उसमें पेवर ब्लॉक बिछाए जाएंगे, जिससे सड़क की सुंदरता भी बढ़ेगी। लेकिन यह कार्य आचार संहिता समाप्त होने के बाद होगा।

कच्ची सड़क पर हमेशा हादसे की बनी रहेगी आशंका
शास्त्री चौराहा से गौरी सरोवर किनारे तक की सड़क पर एमपीयूडीसी ने करीब 9 इंच की सीसी रोड डाली है। वहीं बीच में 9 इंच मोटी सीसी सड़क के किनारे गड्ढेनुमा सड़क हो गई है, जिससे न सिर्फ सड़क किनारे वाहन उतारे में वाहन चालकों को परेशानी हो रही है। बल्कि यहां अचानक ड्रायवर को सड़क किनारे की गहराई नजर न आने से हादसे की आशंका भी रहेगी।

खबरें और भी हैं...