• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • The Body Trapped After The Death Of The Container Driver, The Police Removed The Body By Cutting The Body Of The Container From JCB

घने कोहरे में बस-कंटेनर की भिड़ंत:कंटेनर चालक की मौत के बाद शव फंसा, पुलिस ने जेसीबी से कंटेनर की बॉडी को काटकर निकाला

भिंड21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बस और कंटेनर की भिड़ंत। - Dainik Bhaskar
बस और कंटेनर की भिड़ंत।

भिंड के गोहद चौराहा थाना क्षेत्र में एनएच 719 पर एक बस चालक ने वाहन को तेजी व लापरवाही से चलाते हुए कंटेनर में टक्कर मार दी। इस आमने सामने की भिड़ंत में कंटेनर चालक की मौत हो गई। कंटेनर चालक का शव वाहन में फंस गया। इसके बाद जेसीबी मशीन को बुलाकर कंटेनर की बॉडी तोड़कर शव को निकाला गया। गोहद थाना पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेजते हुए चालक के परिजनों को सूचना दे दी।

यह हादसा शुक्रवार सुबह करीब नौ बजे के आस पास था। इस समय सड़क पर घना कोहरा था। ग्वालियर से बस क्रमांक एमपी 30 पी 2171भिंड की ओर रवाना हुई। गोहद चौराहा थाना क्षेत्र में बूटी कुईया के पास जैसे ही बस पहुंची। बस चालक ने वाहन को तेजी से घने कोहरे के बीच चलाते हुए सड़क के बीच का रोड सेफ्टी मार्कर को क्रॉस करते हुए वन-वे से टू-वे की ओर बढ़ गया। इसी समय भिंड से मालनपुर की ओर जा रहे खाली कंटेनर क्रमांक एमएच 20 डीइ 6568 बस चालक को ननजर नहीं आया। बस सामने से रॉन्ग साइड जाकर कंटेनर से जा भिड़ी। भिड़ंत इतनी ज्यादा तेज थी कि बस में सवार यात्रियों में चीख-पुकार मच गई। कंटेनर का ड्राइवर साइड का हिस्सा पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। इस दुर्घटना में कंटेनर चालक कन्नौज उत्तरप्रदेश निवासी मनोज कुमार की मौत हो गई। शव सीट पर ही फंस कर रह गया।

घायलों को अस्पताल लेकर पहुंची पुलिस

हादसे की सूचना मिलने पर गोहद चौराहा थाना टीआइ ओपी मिश्रा दल बल के साथ मौके पर पहुंचे। बस ड्राइवर की हालत भी गंभीर बताई जा रही है। हादसे में बस में सवार आशा बाई पत्नी बलराम सिंह निवासी भीमनगर रौन, भानु प्रताप पुत्र सरनाम चौहान निवासी रौन भीमनगर, योगेंद्र पुत्र रामचरण तोमर निवासी छींमका गोहद, जितेंद्र पुत्र भगवान सिंह तोमर निवासी छींमका, राजू पुत्र गुलाब सिंह निवासी रामपुरा गोहद, जीतू सिंह निवासी गोहद, शाहरुख खान निवासी गोहदी गोहद घायल हो गए। पुलिस ने सभी घायलों को गोहद अस्पताल भिजवाया। गोहद में प्राइमरी इलाज के बाद गंभीर हालत होने पर योगेंद्र तोमर और जितेंद्र तोमर को ग्वालियर जेएएच के लिए रेफर कर दिया गया।

एक घंटे तक चालक का फंसा रहा शव

यह हादसा के बाद कंटेनर में ड्राइवर मनोज बुरी तरह से फंस गया था। इसी से उसकी मौत हो चुकी थी। हादसे के तत्काल बाद पुलिस ने राहत कार्य शुरू कर दिया था, लेकिन कंटेनर में ड्राइवर का शव करीब एक घंटे तक फंसा रहा। पुलिस ने जेसीबी मशीन को बुलाकर कंटेनर की बॉडी को तोड़ा और चालक के शव को वाहन निकलवाया। ड्राइवर के पास से मिले लाइसेंस से उसका नाम मालूम किया गया। पुलिस ने ड्राइवर के परिजनों को हादसे की सूचना दे दी गई।