पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • The Group Did Not Turn Out For The Voters, Holi Played Outside The House, There Was Doubt About The Corona

शांति-सद्भाव के साथ मना होली का त्योहार:मतवालों की नहीं निकली टोली, घर के बाहर खेली होली, कोरोना को लेकर रहा मन में संशय

भिंड3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गुलाल लगाकर होली की परंपरा का निर्वहन करते लोग। - Dainik Bhaskar
गुलाल लगाकर होली की परंपरा का निर्वहन करते लोग।
  • सड़कों पर सुनाई नहीं दिया डीजे का शोर, पुलिस का रहा सख्त पहरा

कोरोना महामारी के बीच होली का त्योहार लोगों ने शांति एवं सद्भावना पूर्वक तरीके से मनाया। लोग होली का रंग उड़ाने घरों से बाहर निकले, लेकिन प्रशासन की सख्ती को देखते हुए सड़क पर नहीं उतरे। वे घरों के बाहर या आसपास अपने परिचितों को होली के रंगों से रंगते रहे।

होली का त्योहार पर मतवाले युवकों की टोली हर साल निकलती थी। हर मोहल्ला, गली, चौराहों पर डीजे पर डांस के साथ रंग बरसता था। होली की धूम रहती है। इस बार ऐसे सामाजिक रंग होली पर फीके रहे। होली को लेकर युवा और बच्चों के मन में उत्साह भरा रहा, लेकिन प्रशासन की सख्ती और कोरोना वायरस का डर भी सताता रहा। इस बार की होली हर बार की होली से फीकी रही। शहर के बस स्टैंड पर शांत माहौल रहा। बसें खड़ी रही। बसों के अंदर इक्का-दुक्का ही लोग नजर आए। वीरेंद्र नगर में होली का त्योहार घरों के बाहर खेलते नजर आए। शहर की मुख्य सड़कों पर वाहनों की आवाजाही बनी रही। लोग होली के रंगों में रंग नजर आए। मुख्य सड़क पर होली का रंग उड़ाने वाले नहीं थे। गोल मार्केट, शास्त्री चौक, अटेर रोड, लहार चुंगी पर लोग घूम रहे थे। इन स्थानों पर पुलिस का पहरा भी लगा हुआ था।

रंग-गुलाल लगाकर हैप्पी होली

इसी तरह जिले के कस्बों में भी होली का त्योहार शांति पूर्वक मनाया गया। मेहगांव, गोहद, मालनपुर, गोरमी, अटेर, फूप, लहार, दबोह, मिहोना, रौन, आलमपुर में भी होली का त्याेहार पर लोगों ने प्रशासन की गाइडलाइन का पालन किया। इन कस्बों में भी लोग सड़कों पर होली खेलने नहीं निकले। हालांकि कुछ स्थानों पर लोग सड़कों पर होली खेलने आए लेकिन ज्यादा देर तक नहीं रह सके। पुलिस की चेतावनी के साथ ही लोग अपने-अपने घरों के लिए रवाना हो गए।

हुड़दंग पर रही रोक, जुलूस निकला ना फाग के गीत गाए

होली के मौके पर हुड़दंग पर पूरी तरह रोक लगी रही। गांव से लेकर शहर तक में जुलूस नहीं निकला। गांव की चौपाल पर सजने वाला फाग गायन का कार्य भी बंद रहा। भिंड जिला में होली का गुलाल, रंग लगाने की परंपरा है। यह परंपरा का निर्वहन लोग करते नजर आए। लोग, एक दूसरे के घर पर पहुंचे। रंग, गुलाल लगाते रहे। वे एक दूसरे को होली की मिठाई भी खिलाते रहे।

खबरें और भी हैं...