• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • The Health Team That Went Out To Survey Did Not Find The Larvae, But Polythene Was Found In The Drains.

साफ-सफाई कराने नपा सीएमओ से करेंगे बात:सर्वे करने निकली स्वास्थ्य टीम को लार्वा तो नहीं मिला, लेकिन नालियों में पॉलिथीन भरी मिलीं

भिंडएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

डेंगू के सर्वाधिक मामले निकलने के बाद सर्वे की सतत रूप से चलाई जा रही मुहिम के परिणाम स्वरूप लार्वा मिलना तो कम हो गया है लेकिन गली- मौहल्लों की नालियां न केवल गंदगी से अटी पड़ी हैं बल्कि इनमें पॉलीथिन भी समाई हुई है। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ. डीके शर्मा का कहना है कि ऐसे हालात पर बारिश से पहले काबू पाने के लिए नगर पालिका सीएमओ से बात करेंगे जिससे पानी निकासी के उपयुक्त प्रबंध हो सकें और लार्वा पनपने के हालात न बनें।

यहां बता दें डेंगू के इस वर्ष साढ़े तीन सौ से अधिक केस सामने आने पर शुरू की गई लार्वा सर्वे की मुहिम में शहरी और ग्रामीण अंचल में टीमों के घर- घर सर्वे किया जा रहा है। अब सीधे तौर पर लार्वा तो इन दिनों नहीं दिख रहा है पर थोड़ी सी भी आशंका होने पर पानी भरे बर्तन को खाली कराने के साथ ही टेमोफास कीटनाशक का छिड़काव कराया जा रहा है।

मलेरिया विभाग द्वारा इसे चुनौती रूप में लेते हुए लार्वा सर्वे की मुहिम तो चलाई ही जा रही है इसके साथ ही गंदगी वाले स्थानों की साफ सफाई नगरीय निकायों के माध्यम से कराने की भी शुरुआत कर दी गई है। गर्मी के दिनों में लार्वा तो नहीं मिल रहा है पर इसके पनपने की आशंका जरूर बनी हुई है। इस बजह से इस मुहिम को सतत रूप चलाया जा रहा है। क्योंकि अधिक गर्मी में मच्छर स्वत: खत्म तो हो जाता है लेकिन इन दिनों में ठंडे स्थानों पर भी डेरा जमा लेता है।

डेंगू पर प्रहार अभियान के तहत आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का सहयोग लिया जा रहा है। इसके पहले स्कूलों में बच्चों को डेंगू का लार्वा जांचने और इससे बचाव की जानकारी भी दी गई। इसके परिणाम सामने आने लगे हैं। मलेरिया अधिकारी का कहना है कि डेंगू को फैलने से रोकना हमारे ही हाथ में है। मच्छरों को पनपने न दें और उनसे बचाव से ही डेंगू से बच सकते हैं।

यह हैं डेंगू के लक्षण, आशंका पर जांच जरूरी, देर हो सकती है घातक
डेंगू के मुख्य लक्षणों में तेज बुखार, जोड़ों में दर्द, सिरदर्द, त्वचा में लाल चकते, आंखों के पीछे दर्द, नाक, मसूड़ों में खून का रिसाव व उलटी आना। यह लक्षण होने पर तुरंत नजदीकी शासकीय अस्पताल में जांच कराकर उपचार कराना चाहिए। सभी जांच व उपचार निशुल्क है।

डेंगू एक वायरल बुखार है। जो स्वतः ही ठीक हो जाता है। इसलिए घबराएं नहीं। लक्षण के आधार पर चिकित्सक से दवाई लेकर ही सेवन करना चाहिए। पर्याप्त मात्रा में पानी पीए ज्यादा से ज्यादा आराम करना चाहिए पौष्टिक आहार लेना चाहिए।

खबरें और भी हैं...