पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • The Niece Was Killed By A Bullet In The Division Of The Brothers, Then The Dead Body Was Buried, Now The Society's Panchayat Decree Will Stay Out Of The Village For 3 Fortnights, Will Bathe In The Ganges, Will Give Girl Banquet And Mass Bhandara

भानजी की हत्या की सजा गंगा स्नान और भंडारा:भाइयों के बंटवारे में गोली चलने से मौत, पुलिस काे बताए बिना शव दफनाया; समाज की पंचायत ने कहा- 45 दिन गांव से बाहर रहेंगे

भिंड3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भानजी की हत्या और सजा 45 दिन समाज और गांव से बाहर रहेंगे। पाप धोने के लिए गंगा स्नान, फिर कन्या भोज और भंडारा देंगे। इसके बाद ही समाज में शामिल होंगे। हत्या के मामले में यह फैसला सुनाया है समाज के ठेकेदारों ने। एक दर्जन से ज्यादा गांव से समाज के 100 से ज्यादा लोग फैसला देने के लिए जुटे। वे पुलिस भी बन गए और जज भी। हालांकि, मामला पुलिस तक पहुंच गया और सच्चाई सामने आ गई। हत्या करने वाले फरार हैं।

मामला भिंड के भरौली थाने के सीताराम का पुरा गांव का है। 7 मई 2021 को राम लखन कुशवाहा की मौत हो गई थी। 20 मई को राम लखन की तेरहवीं थी। तेरहवीं में मुरैना के डिरौली गांव से अट्टो देवी अपनी 10 वर्षीय बेटी के साथ मायके आई थीं। 21 मई की सुबह किसी बात पर मृतक राम लखन कुशवाह के बेटे मोनू सिंह और बुद्वे सिंह में झगड़ा हुआ। झगड़े के दौरान लाइसेंसी बंदूक से किसी ने गोली चला दी, जो अट्टो की बेटी को जा लगी। गोली लगने से मासूम की मौके पर ही मौत हो गई। वारदात को छिपाने लिए दोनों भाइयों ने अपनी बहन अट्‌टो बाई को मनाया और भानजी के शव को दफना दिया। गांव के किसी व्यक्ति ने भी पुलिस को सूचना नहीं दी।

पुलिस को गुमराह कर बंदूक थाने में कराई जमा
इसके बाद बंदूक को गलत जानकारी देकर थाने में जमा करवा दिया गया। सोमवार को वारदात के 18वें दिन सीताराम का पुरा में आरोपितों के घर समाज विशेष के लोगों की पंचायत हुई। इस पंचायत में भिंड, कटना पुरा, बराय पुरा, सरमन सिंह का पुरा, सिकहाटा, नदरौली, अकोड़ा, सीताराम का पुरा समेत एक दर्जन गांव के लोग इकट्ठे हुए, जिनकी संख्या करीब 100 रही होगी। समाज की पंचायत में इस वारदात की घोर निंदा की गई। इसके बाद समाज के पंचों ने भी पुलिस को सूचना देना उचित न समझाते हुए स्वयं के स्तर पर निर्णय सुना दिया।

पंचायत ने माना दोनों भाइयों से हुई भानजी की हत्या
पंचायत में सुनाए गए निर्णय के मुताबिक बुद्वे और मोनू के हाथों से भानजी की मौत हुई है, इसलिए इनसे पाप हुआ है। इस पाप को खत्म करने के लिए दो भाई तीन पात यानी 45 दिन घर से बाहर रहेंगे। 45 दिन की अवधि पूरी करने के बाद दोनों भाई गंगा स्नान करके आएंगे। इसके बाद गांव में भंडारा किया जाएगा और कन्या भोज का आयोजन किया जाएगा। पंचायत में शामिल समाज कुछ लोगों का मत था कि यह निर्णय गलत है।आरोपियों को कानून समाज दी जानी चाहिए।

पुलिस को लगी खबर, दोनों भाई परिवार सहित फरार
यह घटना की सूचना भारौली पुलिस को भी लग गई। घटना के देर रात पुलिस ने दोनों भाइयों के घर पर दबिश दी। दोनों भाई परिवार सहित फरार हो गए। थाना प्रभारी का कहना है कि पुलिस पूरे मामले की पड़ताल में जुटी है।

पंचायत के निर्णय की जानकारी मिली है
पंचायत लगने और भानजी की मौत पर निर्णय सुनाने की जानकारी लगी है। पुलिस मृतक बालिका का शव बरामद करेगी। आरोपियों पर कार्रवाई की जाएगी।

मोतीलाल कुशवाहा, डीएसपी

खबरें और भी हैं...