• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • Was Admitted To The Hospital After The Pain Started In The Body After Vaccination, Referred To Gwalior If There Was No Improvement

टीका लगवाते ही छात्रा का स्वास्थ्य बिगड़ा:वैक्सीनेशन के बाद शरीर में दर्द शुरू होने पर अस्पताल में कराया भर्ती, सुधार न होने पर ग्वालियर किया रेफर

भिंड19 दिन पहले
अस्तपाल में भर्ती छात्रा।

भिंड के जवासा गांव में शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल में छात्राओं को टीकाकरण कराए जाने के दौरान एक छात्रा का स्वास्थ्य बिगड़ गया। छात्रा को उचित उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। परंतु, स्वास्थ्य में सुधार न होने पर चिकित्सकों आगे के उपचार के लिए ग्वालियर रेफर किया है।

महेवा गांव में रहने वाली 11वीं की छात्रा कल्पना बघेल पुत्री राजवीर सिंह बघेल एमएमडी हायर सेकंडरी स्कूल में पढ़ाई करती है। गुरुवार की दोपहर छात्रा ने सरकारी हायर सेकंडरी स्कूल जवासा में कोविड वैक्सीन का टीका लगवाया था। टीकाकरण किए जाने के बाद छात्रा के शरीर में एक साइड दर्द शुरू होने लगा। इस बात की शिकायत जब छात्रा ने स्कूल प्रबंधन से की तो उसे अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया गया। इसके बाद छात्रा ने पूरे शरीर में दर्द होने की शिकायत शुरू हाे गई। प्राथमिक तौर पर इंजेक्शन का फोविया होने से घबराहट की बात कही जा रही थी। परंतु स्वास्थ में सुधार नहीं हुआ।

ग्वालियर रेफर किया

चिकित्सकों ने 24 घंटे तक जिला अस्पताल में रखकर ट्रीटमेंट किया परंतु सुधार न होने पर ग्वालियर रेफर किया गया है। जवासा में शासकीय हायर सेकंडरी स्कूल के प्राचार्य टीकम सिंह कुशवाह का कहना है कि छात्रा घर से खाना खाकर आई थी और स्कूल प्रबंधन की ओर से छात्रों को केले और बिस्कुट का इंतजाम भी किया गया है। छात्रा काे भर्ती कराए जाने के बाद शाम तक में अस्तपाल में रूका। आज शुक्रवार की सुबह छह बजे से फिर में अस्पताल पहुंच गया था। दोपहर में चिकित्सक विनीत गुप्ता ने छात्रा का स्वास्थ्य देखा। सुधार न होने पर ग्वालियर रेफर की सलाह दी है। छात्रा को ग्वालियर ले जाया गया। छात्रा के साथ उसकी मां, भाई समेत एमएमडी स्कूल के संचालक व प्राचार्य भी गए हुए है।

सिविल सर्जन डॉ अनिल गोयल का कहना है कि छात्रा के स्वास्थ्य की जांच करने पर पल्स, बीपी समेत अन्य पैरामीटर नार्मल आ रहे थे, परंतु धबराहट बनी हुई थी। उचित उपचार के लिए ग्वालियर की सलाह दी थी। परिजन, छात्रा को ग्वालियर ले गए।