सहयोग / माता-पिता की मौत के बाद समाजसेवियों ने की बेटी की मदद, 95 हजार रुपए दिए

X

  • रहवासियों ने पहले पैसे इकट्ठे कर खुलवाई थी चाय की गुमठी

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

अशोकनगर. रेलवे स्टेशन के पास कुशवाह कॉलोनी में कुछ दिन पहले हुए हादसे में पति-पत्नी की मौत हो गई थी। हादसे के बाद उनकी चार बेटी और दो बेटे अनाथ हो गए थे। समाजसेवियों ने उनकी मदद करते हुए उन्हें 95 हजार रुपए नगद भेंट किए। 
दरअसल कुशवाह कॉलोनी के रहवासी बृजलाल कुशवाह जनपद पंचायत ऑफिस के पास कई साल से चाय की दुकान खोलकर अपने परिवार का पालन पोषण करते थे। उनके परिवार में चार बेटियां और दो बेटे थे। 18 महीने पहले मोहल्ले वालों ने चंदा कर उनकी बेटी की शादी करवा दी थी। दोनों पति-पत्नी अपनी 3 बेटियां और दो बेटों का पालन पोषण बड़ी मुश्किल में कर रहे थे। कुछ दिन पहले घर में गैस सिलेंडर लीक होने से उनकी पत्नी को अचानक आग लग गई। बृजलाल ने उसे बचाने के लिए प्रयास किए। इस दौरान वह भी आग से झुलस गया। रहवासियों ने उन्हें उपचार के लिए अस्पताल लाए। जहां डॉक्टरों ने प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें ग्वालियर रैफर कर दिया। स्थानीय रहवासी उन्हें ग्वालियर ले गए। जहां दोनों का इलाज के दौरान निधन हो गया और बच्चे अनाथ हो गए। 
स्थानीय रहवासियों ने आपस में पैसे इकट्ठे कर जहां उनके पिता चाय की दुकान चलाते थे। वहां एक गुमठी रखवा दी। पास में बने जनपद कार्यालय में जहां मृतक बृजलाल चाल ले जाते थे। जनपद पंचायत के कर्मचारियों, अधिकारियों, सचिव, रोजगार सहायकों ने मीटिंग कर अनाथ बच्चों की मदद की। जनपद अध्यक्ष जगन्नाथ सिंह यादव, सीईओ सतेन्द्र जैन, पूर्व सीईओ सलीम खान, पीआई बलदेव भगत ने 5-5 हजार रुपए और अन्य लोगों ने रुपए इकट्ठे कर परिवार की बेटी को 95 हजार रुपए की नगद सहायता दी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना