गेहूं खरीद में लापरवाही:बदनावर सोसाइटी ने अनाज का परिवहन नहीं किया, 9 हजार किसानों का भुगतान अटका

अशोकनगर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भैंसरवास एवं अशोकनगर खरीदी केंद्र पर रखा अनाज। - Dainik Bhaskar
भैंसरवास एवं अशोकनगर खरीदी केंद्र पर रखा अनाज।
  • सोसाइटी प्रबंधक व सहायक के खिलाफ एफआईआर के निर्देश

1 अप्रैल से शुरू हुई समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी में घोर लापरवाही का मामला सामने आया है। हर दिन हजारों क्विंटल गेहूं खरीदने वाली जिले की बदनावर सोसाइटी ने अब तक 1% अनाज का भी परिवहन नहीं किया। इस कारण यहां गेहूं बेचने वाले 9 हजार किसानों के 2 करोड़ रुपए से ज्यादा का भुगतान अटक गया। ज्ञात रहे जिले में 1 अप्रैल से समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी शुरू हुई।

सरकारी स्तर पर की जा रही खरीदी में किसानों को 1 सप्ताह के अंदर भुगतान करने का दावा किया जाता है। लेकिन जिले की बमनावर सोसाइटी में गेहूं बेचने वाले किसानों को 1 माह बीत जाने के बाद भी आज दिनांक तक भुगतान नहीं मिल पाया। किसानों का भुगतान नहीं हो पाने के पीछे खरीदी सोसाइट के कर्मचारियों की घोर लापरवाही सामने आई है। सोसायटी द्वारा बनाए गए दोनों केंद्रों पर खरीदी तो हर दिन की जा रही है।

लेकिन खरीदे गए गेहूं का अब तक परिवहन शुरू ही नहीं किया और नियमानुसार परिवहन कर वेयरहाउस में भंडारण नहीं होने तक किसानों का भुगतान नहीं किया जा सकता। इस कारण गेहूं बेचने वाले किसान अब भुगतान के लिए बैंक के चक्कर लगा कर परेशान हो रहे हैं।

9 हजार किसानों के 2 करोड़ रु. से ज्यादा अटके
बमनावर सोसाइटी गेहूं खरीदी के लिए तो केंद्र बनाए हैं। दोनों केंद्रों पर मिलाकर अब तक करीब 9000 किसानों गेहूं की खरीदी कर ली गई। इन किसानों से खरीदा गया 11000 क्विंटल गेहूं सोसाइटी के पास ही पड़ा है। समर्थन मूल्य के हिसाब से इसकी कीमत 2 करोड़ 17 लाख रुपए है। जिसका आज दिनांक तक किसानों को भुगतान नहीं हो सका।

अल्टीमेटम के बाद भी सुधार नहीं किया
खरीदी केंद्र पर की जा रही लापरवाही को लेकर करें 15 दिन पहले कलेक्टर अभय वर्मा ने संबंधित सोसायटी प्रबंधक व सहायक को सुधार का अल्टीमेटम दिया था। लेकिन कलेक्टर के अल्टीमेटम के बाद भी कर्मचारियों ने अपने काम में कोई सुधार नहीं किया। उन्होंने अब तक गेहूं का परिवहन ही शुरू नहीं कराया।

ये किया बदलाव: खरीदी का स्थान भी बदल डाला
उक्त खरीदी सोसाइटी द्वारा शुरुआत में जिस खुले स्थान पर खरीदी करने दर्शाया गया था, बाद में वह स्थान ही बदल दिया गया। खुले परिसर में खरीदी करने के बजाय संबंधित सोसायटी कर्मचारियों ने किसी गोदाम में खरीदी करना शुरू कर दी। इतना ही नहीं खरीदी किए जाने वाले अनाज व किसानों के रिकॉर्ड की ऑनलाइन एंट्री भी नहीं की।

उक्त केंद्रों पर अब दूसरी संस्था करेगी खरीदी
सहकारी सोसायटी बदनावर मैं सामने आई अनियमितता के बाद संबंधित समिति से खरीदी बंद करा दी है। उक्त केंद्रों पर अब खरीदी के लिए वरिष्ठ स्तर से ही दूसरी संस्था को जिम्मेदारी दी गई है। जिससे किसानों को राहत मिल सके।
- मनोरमा कौशिक, उपार्जन प्रभारी व कनिष्ठ आपूर्ति अधिकारी

सख्त कार्रवाई के बजाय बचाव में लगे विभाग
गेहूं खरीदी में घोर लापरवाही करने वाले कर्मचारियों पर सख्त कार्रवाई करने के बजाय संबंधित विभाग उन्हें बचाने में लगा है। उक्त मामले में कलेक्टर ने समिति प्रबंधक ब्रजभूषण कौशल और सहायक अजय सिंह को निलंबित कर दोनों के खिलाफ एफआईआर कराने के निर्देश दिए।

लेकिन संबंधित विभाग ने यह कार्यवाही करने के बजाए फिलहाल दोनों अधिकारियों को खरीदी करने की प्रक्रिया से हटा दिया। इसके अलावा अब तक कोई कार्रवाई नहीं की। लापरवाही करने पर कर्मचारियों पर कार्रवाई की जानी चाहिए क्योंकि किसानों का भुगतान अटकने के कारण उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

खबरें और भी हैं...