पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गंभीर लापरवाही:खेती की जमीन पर कॉलोनियां बसीं लेकिन बिजली लाइन शिफ्ट नहीं कराई, भुगत रहे लोग

अशोकनगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर की कई बस्तियां ऐसी हैं जहां हर समय लोगों के सिर पर मौत का खतरा रहता है। घरों के ऊपर से 11 केवी तो दूर की बात 33 केवी लाइन तक निकली हैं। कृषि भूमि पर इस खतरे को नजरअंदाज कर कॉलोनाइजरों ने प्लॉट काट दिए। अब रहवासी इसका खामियाजा भुगत रहे हैं। मंगलवार सुबह शहर की श्रीराम सिटी कॉलोनी में एक युवक की छत पर घूमने के दौरान 33 केवी लाइन की चपेट में आने से मौत हो गई। आए दिन इस तरह की घटनाएं बढ़ने के बाद बिजली कंपनी और जिम्मेदार मौन हैं। श्रीराम सिटी कॉलोनी निवासी नरेश (30) पुत्र प्रतिपाल यादव निवासी गुन्हेरू बामौरी का मकान बन रहा था। जहां मकान बन रहा है उसके ठीक ऊपर से ही 33 केवी की लाइन निकली है। घूमने के दौरान नरेश लाइन की चपेट में आते ही अचेत हो गया। चीखने चिल्लाने की आवाज सुनकर परिजन छत पर पहुंचे और उसे सरकारी अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। युवक की मौत पर परिजन रोते बिलखते हुए बिजली कंपनी पर आरोप लगाते रहे। उन्होंने बताया कि 2 साल से लाइन शिफ्ट कराने के लिए आवेदन भी दिया लेकिन सुनवाई नहीं हुई। इसी वजह से उनके घर का चिराग बुझ गया।

भास्कर पड़ताल : आए दिन घरों पर गिरती है बिजली की लाइन से चिंगारी
घटना के बाद जब हमने उक्त बस्ती में पहुंचकर हकीकत जानी तो लाखों रुपए मकान और प्लाट में खर्च कर चुके रहवासियों को हर समय जान का खतरा बना रहता है। कॉलोनी की रहवासी कृष्णाबाई ने बताया कि थोड़ी सी हवा चलते ही तार आपस में टकराते हैं और चिंगारियां निकलती रहती हैं। ऐसे में कभी तार टूट गया तो बड़ी दुर्घटना हो सकती है। रहवासियों ने बिजली कंपनी में सुनवाई नहीं होने पर पाइप में रस्सी फंसाकर खंभे से बांध दिया है। लेकिन यह अस्थाई समाधान कभी भी अन्य लोगों की जान ले सकता है। रहवासियों का दर्द है कि सस्ती रेट पर प्लाट तो ले लिए लेकिन आज डर के साए में लोग जी रहे हैं।

पूर्व में भी हो चुकी हैं यहां पर ऐसी घटनाएं
शहर में 25 जून को शंकर कॉलोनी निवासी राजाराम अहिरवार की मौत इसी तरह की गलती से हो चुकी है। वहीं शहर के मोती मोहल्ला में एक मकान के काम करने के दौरान अंकित सेन की मौत करंट लगने से हो चुकी है। लगातार इस तरह की घटनाएं होने के बाद इस समस्या का समाधान खोजने में बिजली कंपनी नाकाम है। इसलिए बिजली कंपनी को जल्द ही इस समस्या का समाधान खोजना चाहिए

ये हैं इन घटनाओं के जिम्मेदार

कॉलोनाइजर: शहर में एक दर्जन से अधिक ऐसी कॉलोनियां हैं जहां 11 और 33 केवी की लाइन घरों के ऊपर से निकली हैं। कॉलोनाइजरों ने कृषि भूमि पर प्लाटिंग तो की लेकिन इन लाइनों को शिफ्ट नहीं कराया। इन दुर्घटनाओं के लिए कॉलोनाइजर बड़े जिम्मेदार हैं। बिजली कंपनी: अधिकांश कॉलोनियों में कॉलोनाइजर द्वारा ही ट्रांसफार्मर रखवाया जाता है। ऐसे में कंपनी अधिकारियों को पता होता है कि भविष्य में जहां से बिजली लाइन निकली हैं वहां मकानों का निर्माण होगा। फिर भी वे कॉलोनाईजर को कनेक्शन दे देते हैं। अगर लाइन शिफ्ट कराने का खर्चा वसूल कर नक्शे के मुताबिक तारों को डालते तो इस तरह का खतरा नहीं होता। राजस्व विभाग: वैसे तो शहर में अधिकांश कॉलोनी बगैर डायवर्सन के बसी हैं। लेकिन राजस्व विभाग की ड्यूटी भी रहती है कि संबंधित भूखंडों का नामांतरण और डायवर्सन तभी करें जब बस्ती पूरी तरह से खतरा मुक्त नजर आए। लेकिन इस तरह आज तक किसी भी अधिकारी ने ध्यान नहीं दिया है।

घरों की सुरक्षा को लेकर बात करेंगे

बिजली कंपनी को पत्र लिखकर जिन रहवासी बस्तियों से बड़ी लाइन निकली है उसकी संख्या मांगी जाएगी। वहीं जहां से बड़ी लाइन निकली है उसके नीचे बने भवनों की सुरक्षा को लेकर भी बातचीत करेंगे। वहीं इस तरह की कॉलोनियों में प्लाट लेने से पहले लोग भी पड़ताल करें। रवि मालवीय, एसडीएम अशोकनगर।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज भविष्य को लेकर कुछ योजनाएं क्रियान्वित होंगी। ईश्वर के आशीर्वाद से आप उपलब्धियां भी हासिल कर लेंगे। अभी का किया हुआ परिश्रम आगे चलकर लाभ देगा। प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे लोगों के ल...

और पढ़ें