पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मत्स्य समिति भंग करने के बाद...:समिति सदस्य महिला ने लगाया रिश्वत का आरोप फिर हाथ में चप्पल लेकर कार्यालय में घुस गई

अशोकनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अध्यक्ष और उपाध्यक्ष पर लगाए मछली न पकड़ने दिए जाने व रिश्वत दिए जाने के आरोप

छज्जू बरखेड़ा तालाब 10 साल के लिए मछली पालन के लिए समिति को दिया था लेकिन समिति के अध्यक्ष, उपाध्यक्ष सहित सदस्यों के बीच चल रहे विवाद के बाद उसे भंग करवाने समिति सदस्य मत्स्य विभाग पहुंच गए जहां सदस्यों ने समिति को भंग किए जाने की मांग रखते हुए हंगामा किया और अध्यक्ष द्वारा अधिकारियों को रिश्वत दिए जाने के आरोप भी लगाए। एक महिला सदस्य हाथ में चप्पल लेकर अधिकारी के दफ्तर में पहुंच गई। जहां अन्य सदस्यों की समझाइश के बाद महिला ने चप्पल को जमीन पर फेंक दिया। दरअसल, केवट राज मछुआ सहकारी समिति को बरखेड़ा छज्जू तालाब 10 साल के लिए 61 सदस्यों की बनी समिति को दिया था। जहां उनको मस्त्य पालन करना था। खजुरिया कला से आए समिति सदस्य काशीराम केवट ने बताया कि संस्था अध्यक्ष भूरा केवट और उपाध्यक्ष विनोद केवट बिहार राज्य के मछुआरों से हरी चट्टी जाल से रात में सुखवान व बड़ी मछली निकलवा कर बेच रहा है। इस संबंध में शिकायत की तो समिति के सदस्यों को अध्यक्ष व उपाध्यक्ष ने हटा दिया। समिति अध्यक्ष भूरा केवट ने बताया कि गलत आरोप लगा रहे हैं, जो लोग सोसायटी के नियम का पालन नहीं कर रहे हैं वे हंगामा कर रहे हैं। सदस्य अगर काम नहीं करेंगे तो अनुमति से किसी से भी काम करवा सकते हैं।

रिश्वत देने के आरोप लगाए
कलेक्टोरेट में हंगामा कर रही पुष्पा बाई ने कहा ये फर्जी अध्यक्ष बना है। हम गरीब हैं, अंदर बैठे लोगों को रिश्वत दे रहा है। दो रोटी सुख से नहीं खाने दे रहा। गुना के लोगों से मछलियां पकड़वा रहा है।
^तालाब का पट्टा समिति के लिए होता है। समिति का अध्यक्ष संचालक मंडल के सहयोग से एवं समय समय पर समिति के सहयोग से कार्य करता है। इस समिति को 10 साल अनुबंध की शर्तों पर पट्टा दिया है। 35 सदस्य अपना कथन देने आए थे। इस शिकायत के संबंध में निराकरण करेंगे।
संजय नामदार, मत्स्य निरीक्षक

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप अपने व्यक्तिगत रिश्तों को मजबूत करने को ज्यादा महत्व देंगे। साथ ही, अपने व्यक्तित्व और व्यवहार में कुछ परिवर्तन लाने के लिए समाजसेवी संस्थाओं से जुड़ना और सेवा कार्य करना बहुत ही उचित निर्ण...

    और पढ़ें