पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मांग:सेंटर का ताला लगाकर हड़ताल पर गए कर्मचारी तो नहीं हुई कोरोना की जांच

अशोकनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • वार्डों में नियमित स्टाफ ने किया काम, जिले में 107 अस्थाई कर्मचारियों ने नहीं किया

शनिवार को जिले में कोविड-19 की व्यवस्थाएं पूरी तरह से ध्वस्त हो गईं। 50 फीसदी कर्मचारियों को हटाने के आदेश जारी करने के बाद अस्थाई कर्मचारियों ने शनिवार नहीं किया। यहां तक उन्होंने जिला अस्पताल में बनाए कोविड-19 जांच सेंटर का ताला लगा दिया, इससे एक भी जांच नहीं हो सकी। जांच तो दूर की बात शनिवार को जिले में कहीं भी संदिग्ध लोगों की स्क्रीनिंग तक नहीं हुई। कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिए तैनात किए गए अस्थायी कर्मचारियों ने नियमितिकरण में संविलियन की मांग को लेकर शनिवार को कलेक्टर के नाम ज्ञापन दिया। कोविड-19 स्वास्थ्य संगठन के बैनर तले ज्ञापन में बताया कि जिले के लगभग 107 अस्थायी कर्मचारी पिछले सात माह से कोरोना महामारी की रोकथाम, नियंत्रण व इलाज करने अस्थायी तौर पर जिलेभर में स्वास्थ्य सेवाएं दे रहे हैं। अब उन्हें निकाले जाने का आदेश जारी कर दिया गया है।

कर्मचारियों ने की नियमितीकरण की मांग
अस्थाई कर्मचारियों ने बताया कि पिछले सात माह से डॉक्टर्स, स्टाफ नर्स, वार्ड ब्वाय, लैब टेक्नीशियन, फार्मासिस्ट द्वारा मेहनत और ईमानदारी से कोरोना वॉरियर्स की तरह कोरोना संक्रमित व संदिग्ध मरीजों के सीधे संपर्क में रहते हुए सेवाएं दी हैं। ऐसे में उनकी सेवाओं का प्रतिफल के बदले 50 फीसदी कर्मचारियों को नौकरी से निकाला जा रहा है। कर्मचारियों ने कोविड-19 स्वास्थ्य संगठन बनाकर कलेक्टर को ज्ञापन देते हुए स्वास्थ्य कर्मचारी के रुप में कार्य कर रहे सभी अस्थायी कर्मचारियों का नियमितिकरण करने की मांग की।

आधे कर्मचारियों को हटाकर फूट डालने की कोशिश कर रहे
कर्मचारियों ने बताया कि मिशन संचालक द्वारा जो पत्र जारी किया है उसमें 50% कर्मचारियों को निकाला जाएगा। ऐसे में 107 कर्मचारियों में से 53 लोगों को निकालकर फूट डालने की साजिश की है। कर्मचारियों ने कहा कि मांग पूरी नहीं होने पर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर जाएंगे।

500 से अधिक जांचें रोज हो रही थीं
जिले में रोज 500 से अधिक जांचें हो रही थीं। जबकि शनिवार को यह आंकड़ा शून्य पर आ गया। हालांकि सीएमएचओ डॉ. हिमांशु शर्मा ने बताया शनिवार को कोरोना की जांच नहीं हो सकी।

तीन माह के लिए हुआ था चयन
^कर्मचारियों का चयन 3 माह के लिए हुआ था। इनमें से 50 फीसदी स्टाफ को 30 नवंबर से हटाने के लिए आदेशित किया है। लेकिन कर्मचारी पहले ही हड़ताल पर चले गए हैं इससे व्यवस्थाएं बिगड़ी हैं। कल से व्यवस्थाएं पटरी पर लौट आएंगी।
डॉ. हिमांशु शर्मा, सीएमएचओ

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उत्तम व्यतीत होगा। खुद को समर्थ और ऊर्जावान महसूस करेंगे। अपने पारिवारिक दायित्वों का बखूबी निर्वहन करने में सक्षम रहेंगे। आप कुछ ऐसे कार्य भी करेंगे जिससे आपकी रचनात्मकता सामने आएगी। घर ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser