समर्थन मूल्य खरीदी / चना और सरसों की समर्थन मूल्य पर खरीदी शुरू सर्वेयर के नहीं होने से संचालक कर रहे मनमानी

Due to non-availability of surveyor buying on support price of gram and mustard, operators are arbitrary
X
Due to non-availability of surveyor buying on support price of gram and mustard, operators are arbitrary

  • सरकार ने समर्थन मूल्य पर चना और सरसों की खरीदी शुरू कर दी है

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

अशोकनगर. सरकार ने समर्थन मूल्य पर चना और सरसों की खरीदी शुरू कर दी है। शहर में दो खरीदी केंद्रों पर चना और सरसों ली जा रही है। इन केंद्रों पर सर्वेयर के नहीं होने से खरीदी केंद्र संचालक मनमानी करते हुए से उपज खरीद रहे हैं। 
चना और सरसों खरीदी केंद्रों पर किसान अपनी उपज लेकर आने लगे हैं। इन खरीदी केंद्रों पर सुविधाओं का अभाव है। इससे किसानों को परेशानी हो रही है। खरीदी केंद्रों पर प्रशासन ने अभी तक सर्वेयर की नियुक्त भी नहीं की है। सर्वेयर खरीदी केंद्र पर बिकने के लिए आई उपज की जांच करता है। सर्वेयर द्वारा पास करने के बाद भी फसल की खरीदी होती है। 
सर्वेयर का काम उपज को चैक कर उसे पास फेल करने का होता है। सर्वेयर के नहीं होने के कारण खरीदी केंद्र संचालक मनमानी करते हुए उपज खरीद रहे हैं। खरीदी केंद्र संचालक चना और सरसों की खरीदी में गुणवत्ता का ध्यान नहीं रख रहे हैं। खरीदी केंद्र पर माल की गुणवत्ता चैक करने वाला कोई सर्वेयर नहीं होने से खरीदी केंद्र पर घटिया क्वालिटी की उपज खरीदी जा रही है। 
खरीदी पर नहीं है किसानों को सुविधाएं : खरीदी केंद्र पर कई तरह की अव्यवस्था देखने को मिली। इसी केंद्र पर गेहूं खरीदी भी हुई थी। गेहूं खरीदी में किसानों ने समिति प्रबंधक की शिकायत की थी। लेकिन आज तक इन शिकायतों पर कोई कार्रवाई की गई। 
इसी समिति प्रबंधक पर लीड का प्रभार भी है। समिति प्रबंधक ने आज तक मार्च माह का केरोसिन दुकानदारों तक नहीं पहुंचाया है और गरीब आज भी केरोसिन के लिए परेशान हो रहा है। इतनी अनियमितताओं के बाद भी प्रशासन ने इसी समिति प्रबंधक को चना खरीदी की जिम्मेदारी भी दे दी है। 

टीला रोड खरीदी केंद्र पर नहीं मिला कोई जिम्मेदार

नवीन मंडी में बने सेवा सहकारी खरीदी केंद्र पर अभी तक 1060 बोरी चना और 54 क्विंटल सरसों की खरीदी हो चुकी है। वहीं टीला रोड पर बने खरीदी केंद्र पर जन जानकारी लेने के लिए पहुंचे तो खरीदी केंद्र पर कोई जिम्मेदार नहीं मिला इससे केंद्र पर कितनी उपज की खरीदी हो चुकी है। इसकी जानकारी नहीं मिली। 

4875 रुपए चना और 4425 रुपए में बिक रही सरसों

गेहूं खरीदी के बाद प्रशासन द्वारा चना और सरसों की खरीदी की जा रही है। समर्थन मूल्य पर चना के मूल्य 4875 और सरसों का मूल्य 4425 रुपए निर्धारित किया गया है। इससे किसानों को उनकी उपज का अच्छा दाम मिल सकेगा। 
बिना सर्वेयर के हो रही खरीद
शासन द्वारा हर साल चना की खरीदी सर्वेयर के माध्यम से करवाती है। सर्वेयर ही किसान की उपज की जांच कर उसे पास और फेल करता है। इससे समिति प्रबंधक की मनमानी पर अंकुश लगाया जा सके। खरीदी केंद्र पर अभी सर्वेयर के नहीं होने से समिति प्रबंधक ही उपज की खरीदी कर रहे हैं। समिति प्रबंधक द्वारा मनमानी करते हुए उपज की खरीदी की जा रही है। इससे उपज की गुणवत्ता पर सवाल खड़े हो रहे हैं। इस संबंध में जिला एमपीएस सीएससी के डीएम आरएस सोलंकी से बात करना चाही तो उन्होंने फोन नहीं उठाया। 

अनिल पाठक, जिला फूड अधिकारी, अशोकनगर के मुताबिक, सर्वेयर का काम एमपीएस सीएससी वालों का है।  मैं इस संबंध में कुछ नहीं कह सकता।


आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना