पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

हादसा:गैस सिलेंडर में रिसाव से घर में लगी अाग पर दमकल और पुलिस नहीं पहुंची, लोगों ने मां-बेटी को बचाया

अशोकनगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चाय बनाने के दौरान हादसा, गुस्साएं लोगों ने ओवरब्रिज पर लगाया जाम
  • तहसीलदार की समझाइश पर माने लोग, शाम तक घटना से डरी मां को नहीं आया होश

शहर के वार्ड नंबर 8 जगदंबा कॉलोनी में सोमवार की सुबह एक घर में सिलेंडर लीकेज होने से चाय बनाते समय आग लग गई। इस घटना में गृहस्थी का सामान पूरी तरह से जल गया। आग लगने के समय घर में मां के अलावा 17 साल की बेटी मौजूद थी। गृहस्थी का सामान जलता देख मां बेहोश हो गई। लेकिन आसपास के लोगों ने तत्काल मदद करते हुए मां बेटी को न केवल बचाया, बल्कि हैंडपंप से लगातार पानी डालकर आग पर काबू पाया।

जानकारी के मुताबिक प्रियंका कुशवाह सुबह 7:30 बजे चाय बना रही थी। तभी सिलेंडर में हो रहे लीकेज से अचानक आग की लपटें उठने लगीं। मां सभ्रदी बाई कुछ ही सेकेंडों में गृहस्थी जलती देख कर तत्काल बेहोश हो गई। इस बीच पड़ोसी मुकेश सेन सहित अन्य लोगों ने तत्काल महिला को बाहर निकाला और फिर मदद के लिए फायरब्रिगेड और पुलिस को फोन लगाया पर मदद नहीं पहुंचने से लोगों ने ओवरब्रिज पर जाम लगाया।

फायरब्रिगेड पहुंची लेकिन संकरी गली होने से बाहर ही खड़ी होकर रह गई। इसके बाद लोगों ने हौंसला नहीं खोया और बाहर लगे हैंडपंप से लगातार पानी डालकर आग पर काबू पाया। वहीं सिलेंडर को रस्सी से बांधकर दूर खेत में पटक दिया।

लोग बोले- फोन करने के एक घंटे बाद भी नहीं मिली किसी तरह की सहायता

शाम तक नहीं आया होश

घटना से घबराई मां को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। शाम तक महिला को होश नहीं आया। परिजनों ने बताया कि होश में आते ही मां मुझे बचा लो बोलती है और फिर बेसुध हो जाती है। खबर लिखने तक होश नहीं आया था।

50 किलो गेहूं और पांच किलो चावल तत्काल दी सहायता

पूर्व विधायक जजपाल सिंह जज्जी, तहसीलदार रोहित रघुवंशी घटना स्थल पर पहुंचे। जहां पूर्व विधायक ने खुद की तरफ से आर्थिक सहायता दी। एवं खाद्य विभाग की तरफ से 50 किलो गेहूं और 5 किलो चावल तत्काल देने के लिए कहा। वहीं कलेक्टर से आग्रह कर 95 हजार की राहत राशि और बीमा कंपनी से बीमा दिलवाने के लिए खाद्य विभाग के अधिकारियों को कहा।

आग इतनी तेज थी संदूक के अंदर रखा सामान और 60 हजार रुपए नकद जले

मकान मालिक प्रतिपाल कुशवाह ने बताया कि आगजनी की वजह से पूरी गृहस्थी जल गई। वहीं सोयाबीन कटाई के 60 हजार रुपए नकद रखे थे वे भी आगजनी में जल गए। आग इतनी तेज थी कि लोहे की संदूक के अंदर रखा सामान तक पूरी तरह से जल गया।

भास्कर नॉलेज

मिल सकती है मदद

किसी के भी घर में गैस सिलेंडर की वजह से आग लगने पर कंपनी द्वारा मदद मिल सकती है। जिस कंपनी का गैस कनेक्शन है उसके द्वारा अपने ग्राहक को मुआवजा देने का प्रावधान है। यह मुआवजा तीन तरह से मिलता है। कंपनी अपने हर ग्राहक को कनेक्शन के साथ ही बीमा पॉलिसी में इस तरह से कवर करती है कि अगर जांच में यह साबित हो जाए कि आग लगने की वजह गैस सिलेंडर है तो फिर घर के नुकसान की भरपाई भी की जाती है। आगजनी की वजह से अगर घर क्षतिग्रस्त होता है तो इस स्थिति में अधिकतम 2 लाख रुपए तक कंपनी भुगतान कर सकती है।

उज्जवला योजना के तहत मुंगावली क्षेत्र में इंडेन कंपनी का गैस कनेक्शन था। शासन से जो भी मदद होगी वह उपलब्ध कराएंगे। वहीं बीमा कंपनी से भी मुआवजे का प्रावधान होगा वह दिलाएंगे।
एमसी जैन, सहायक खाद्य आपूति अधकारी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें