पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना का असर:ज्योतिषाचार्य बोले- भ्रम में न आएं, 25 को नवमी, 26 काे दशहरा

अशोकनगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहली बार शहर में नहीं जलेगा रावण का पुतला, शासन ने 26 को दशहरा का घोषित किया अवकाश

तिथियों के उलट फेर की वजह से इस बार नवमी और दशहरा को लेकर लोगों के बीच भारी असमंजस की स्थिति बनी हुई है। लोगों का मानना है नवमी और दशहरा एक साथ पड़ रहे हैं लेकिन इस ज्योतिषाचार्य सिरे से नकार रहे हैं। हालांकि पहली बार है जब कोरोना के चलते शहर में रावण दहन नहीं होगा। इधर जिले के लिए घोषित स्थानीय अवकाश मेें कलेक्टर ने 24 अक्टूबर को अष्टमी व 26 अक्टूबर को दशहरे का अवकाश घोषित किया है। दुर्गाष्टमी का पर्व आज मनाया जाएगा। इस दिन लोग शीतला माता मंदिर पहुंचकर देवी की पूजा-अर्चना करेंगे। साथ ही घरों पर भी कुलदेवी की पूजा की जाएगी। दुर्गाष्टमी के चलते शीतला मंदिर पर महिलाएं पहुंचेंगी।

पहली बार नहीं होगा रावण दहन
कोरोना के चलते पहली बार दशहरा पर रावण का पुतला दहन नहीं होगा। हर साल मोहरी की पठार पर रावण, कुंभकरण और मेघनाथ के पुतले का दहन होता था लेकिन कोरोना के चलते सोशल डिस्टेंस को देखते हुए इस बार रावण दहन नहीं होगा।

पंचांग के मुताबिक किसी भी तरह का भ्रम नहीं

  • पं. किशनलाल मिश्र के मुताबिक भुवन विजय पंचांग के मुताबिक किसी भी तरह की भ्रम की स्थिति नहीं है। रविवार को नवमी का पर्व मनाया जाएगा और दशहरा सोमवार को मनाया जाएगा, जो लोग भ्रम के चलते दोनों को एक साथ मनाएंगे ताे उसकी नवमी खंडित मानी जाएंगी।
  • उज्जैन के ज्योतिषाचार्य श्रीरामचंद शास्त्री ने कहा काल की गणना अक्षांश-देशांतर से होती है। अलग-अलग क्षेत्र में सूर्योदय का समय अलग रहता है। काल की गणना इसी आधार पर होती है, इसलिए तिथियों में अंतर आता है। रविवार को नवमी एवं सोमवार को दशहरा का पर्व मनाया जाएगा।
  • ज्योतिषाचार्य पं. कैलाशपति नायक के मुताबिक गांव-गांव मेें पंचांग की मान्यता होती है। जिसके अनुसार दुर्गाष्टमी सुबह 11.06 बजे तक रहेगा। नवमी रविवार को सुबह 11.53 बजे तक होगा। दशहरा सोमवार को सुबह 11.11 बजे तक रहेगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें