वारदात में शामिल अन्य आरोपी चल रहे हैं अब भी:दुष्कर्म के आरोपी के घर पर आत्महत्या करने पहुंची नाबालिग, परिजनों ने बचाया

अशोकनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अपने पोते-पोती की उम्र की नाबालिग से दुष्कर्म करने वाले 65 वर्षीय आरोपी के घर पहुंची नाबालिग ने पेड़ पर फांसी का फंदा बनाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया। जिस पर जब आरोपी के परिवार की नजर पड़ी तो उन्होंने न सिर्फ उसे बचाया बल्कि पुलिस को भी मामले की जानकारी दी। इसके बाद पिपरई पुलिस मौके पर पहुंच गई। दरअसल, आरोपी नरेंद्र यादव 65 साल ने अपने घर पर पोते पोती को खिलाने आने वाली 12 साल 4 महा की मासूम के साथ दुष्कर्म किया था अौर जब उसका गर्भ 5 माह का हो गया तो उसे पांडु रोग बताकर उसके इलाज के लिए झांसी ले जाकर उसका गर्भपात कराया था। इस मामले में पीड़िता के पिता ने 16 अक्टूबर को थाने पहुंचकर अपनी बेटी के अपहरण किए जाने की शिकायत दर्ज कराई थी। उक्त मामले में पुलिस ने धारा 363, 376 गर्भपात की धारा सहित पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था। जिसके बाद पुलिस ने उक्त आरोपी को पकड़कर जेल भेज दिया। वहीं घटना को अंजाम देने वाले अन्य आरोपी अब भी फरार हैं। ऐसे में रविवार शाम नाबालिग रस्सी लेकर सीधे आरोपी के घर पहुंच गई और वहां लगे पेड़ पर रस्सी डालकर आत्महत्या करने का प्रयास किया, लेकिन जब आरोपी के परिजनों पर उसकी नजर पड़ी तो उन्होंने उसे बचा लिया और पुलिस को मामले की जानकारी दी। उक्त मामले की जांच पिपरई पुलिस कर रही है। नाबालिग बच्ची से दुष्कर्म करने वाले 65 वर्षीय आरोपी के घर नाबालिग पेड़ पर फांसी का फंदा बनाकर आत्महत्या करने के लिए पहुंच गई। आरोपी के परिवार की नजर पड़ी तो उन्होंने बचाया।

खबरें और भी हैं...