पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ईद-उल-अजहा:ईदगाह पर सांकेतिक नमाज अदा की कोरोना से निजात दिलाने की मांगी दुआ

अशोकनगर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिलेभर में सुख-समृद्धि, अमन चैन और कोरोना के खात्मे की मांगी दुआ

मुस्लिम समाज ने बुधवार हर्ष उल्लास के साथ ईद का त्योहार मनाया। इस दौरान लोगों ने एक-दूसरे को ईद की मुबारकवाद दी। इसके साथ ही सोशल मीडिया पर भी दिन भर ईद की मुबारक बाद देने का दौर चलता रहा।

समाजजनों ने प्रोटोकाल का पालन करते हुए घरों में ईद की नमाज अदा की। इसके साथ ही ईदगाह सहित मस्जिदों में सांकेतिक रूप से ईद की नमाज अदा की गई। समाज के लोगों ने घरों में अदा की ईद की नमाज

मुस्लिम समाजजनों ने कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए बुधवार को शहर में ईद की नमाज अदा की। कोरोना महामारी के चलते समाजजनों ने ईद का जुलूस नहीं निकाला। शहर की मस्जिदों में लोगों ने ईद की नमाज अदा की। इस्लाम के अनुसार ईद उल

अजहा के दिन हजरत इब्राहिम अ.स. अपने पुत्र हजरत इस्माइल अ.स. को खुदा की राह में कुर्बान करने जा रहे थे, तो अल्लाह ने उनके पुत्र को बख्श दिया। इसी कुर्बानी की याद में यह त्योहार मनाया जाता है।

कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करते हुए घरों में अदा की नमाज

भाईचारे के साथ मस्जिदों और घरों में पढ़ी ईद की नमाज
शहर में ईद उल अजहा का त्योहार सादगी और भाई चारे के साथ मस्जिदों और घर पर नमाज अदा कर मनाया। कोरोना महामारी को देखते हुए शासन की गाइड लाइन अनुसार मस्जिदों में अधिकतम पचास लोगों ने और ईदगाह पर छह लोगों को ही अनुमति थी। उसको देखते हुए जामा मस्जिद के पेश इमाम मौलाना इश्तेयाक साहब ने लोगों को पहले ही बता दिया था कि अगले वर्ष जैसे ही इस वर्ष भी हमें ईद की नमाज शासन की कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए ईदगाह पर न आकर अपने घरों में ही अदा करें।

सभी लोग देश दुनिया मे अमनो अमन की दुआ के साथ हमारे मुल्क में कोरोना महामारी के खात्मे की दुआ मांगे। इसके पहले जामा मस्जिद में पेश इमाम मौलाना इश्तेयाक साहब ने नमाज पढ़ाने से पहले लोगों को हिदायत दी कि यह ईद कुर्बानी की जिद है। हमारी कुर्बानी से किसी कोई परेशानी नहीं होना चाहिए और कुर्बानी को पर्दे में ही करें। इस्लाम में किसी को भी तकलीफ देने की फर्जीयत नहीं है। इस दौरान थाना प्रभारी सियाराम गुर्जर के नेतृत्व में पुलिस तैनात रही।

कोरोना प्रोटोकॉल का ख्लाय रखते हुए अदा की नमाज
ईद उल अजहा का पर्व शांति और सौहार्द्र से मनाया गया। ईद उल अजहा की नमाज ईदगाह पर कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के चलते धर्मावलंबियों ने सांकेतिक रूप से अदा की। इस दौरान कोविड 19 प्रोटोकॉल का ख्याल रखा गया। शहर के विभिन्न मस्जिदों में देश में खुशहाली, अमन-चैन, सुख समृद्धि और कोरोना महामारी से निजात मिलने की दुआ की गई। ईद को लेकर कहीं भी भीड़ भाड़ दिखाई नहीं दी। मस्जिदों में राजस्व विभाग के अधिकारियों सहित बड़ी संख्या में पुलिस बल उपस्थित रहा। नमाज के बाद धर्मावलंबियों ने एक-दूसरे को ईद की मुबारकबाद दी और जकात बांटी।

खबरें और भी हैं...