खेत में पानी देने को लेकर मारपीट:रिपोर्ट दर्ज कराने एक पक्ष ने सड़क पर किया चक्काजाम, थाना प्रभारी पर भी लगाए मारपीट के आरोप

अशोकनगर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
घायल को सड़क पर लिटाकर चक्काजाम करते पीड़ित। - Dainik Bhaskar
घायल को सड़क पर लिटाकर चक्काजाम करते पीड़ित।

अशोकनगर के शाढ़ौरा थाना क्षेत्र के मदागन गांव में दो पक्षों में खेत में पानी देने को लेकर विवाद हो गया था। एक पक्ष ने थाने में शिकायत दर्ज करा दी। दूसरा पक्ष शिकायत दर्ज कराने पहुंचा। इसी दौरान दूसरे पक्ष ने घायल व्यक्ति को सड़क पर रखकर चक्काजाम कर दिया और थाना प्रभारी पर भी मारपीट के आरोप लगाए।

शनिवार को हुए विवाद में एक पक्ष शाढ़ौरा थाना पहुंचा और मामला दर्ज करा दिया। दूसरे पक्ष के लोगों ने डायल 100 को फोन पर सूचना दी थी। डायल 100 मौके पर पहुंची और घायलों को थाने लेकर आए। पुलिस ने घायल 5 लोगों को एमएलसी करवाने को कहा- सभी लोग सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर गई, लेकिन वहां पर जाकर अहिरवार समाज के घायल लोग कहने लगे कि शाढौरा थाने में हमारी रिपोर्ट नहीं लिखी जा रही और अपनी समाज के लोगों के साथ अस्पताल के सामने घायल को सड़क पर रखकर चक्काजाम कर दिया।

लगभग 20 मिनट से अधिक समय तक चक्काजाम रहा। इस दौरान चक्काजाम कर रहे लोगों ने कहा- शाढ़ौरा थाना पुलिस पर एक पक्ष पक्षपात करने का आरोप लगाया। वहीं घायल व्यक्ति के परिजनों का कहना है कि दूसरे पक्ष ने उसके ऊपर ट्रैक्टर चढ़ा दिया। पुलिस की समझाइश के बाद मानें, तब जाकर सड़क से जाम हटाया।

यह है पूरा मामला

मदागन गांव में एक व्यक्ति ने दूसरे से व्यक्ति से अपने खेत में ट्यूबवैल से सिंचाई करने को कहा- दूसरे व्यक्ति ने सिंचाई करने से मना कर दिया। यह मुंहवाद धीरे-धीरे बड़ा और मारपीट में बदल गया। दोनों पक्षों की हुई मारपीट में आधा दर्जन लोग घायल हो गए। एक पक्ष के बल्ला अहिरवार की शिकायत पर दूसरे पक्ष के लोगों पर मामला दर्ज किया है। वहीं दूसरे पक्ष की नीलेश रघुवंशी की शिकायत पर अहिरवार समाज के लोगों पर मामला दर्ज हुआ है।

प्रशिक्षु डीएसपी एवं शाढ़ौरा थाना प्रभारी राजाराम धाकड़ ने बताया कि दोनों पक्षों में विवाद हो गया था। अहिरवार समाज का एक व्यक्ति घायल था। इसलिए जल्द एमएलसी कराने एवं उपचार कराने अस्पताल लेकर गए थे। अस्पताल में जाकर कहने लगा कि हमारी रिपोर्ट नहीं लिख रहा है। कुछ समय तक चक्काजाम का प्रयास किया, लेकिन बाद में समझाइश पर मान गए। दोनों पक्षों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।