पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तीसरी लहर से ऐसे बेचेंगे हम:5 माह में सिर्फ 17324 का वैक्सीनेशन, 80.1% को एक डोज भी नहीं, पहला टीका 20% को लगा

अशोकनगर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 37.9% हेल्थ और 27.3% फ्रंट लाइन कर्मचारियों को नहीं लगा सेकंड डोज

पांच माह से चल रहे वैक्सीनेशन के बाद भी अब तक जिले के सिर्फ 17,324 यानी 0.15 फीसदी को ही टीके का डबल डोज देकर कोरोना से सुरक्षित किया जा सका। जबकि 18 साल से ज्यादा साल के ही 80.1 प्रतिशत लोगों पर अब भी संक्रमण का खतरा मंडरा रहा है। इन्हें अब तक पहला डोज ही नहीं लग सका।

दूसरी तरफ पहला टीका लगवाने वाले कई हेल्थ व फ्रंट लाइन 2896 कर्मचारियों ने भी अब तक दूसरा टीका नहीं लगवाया।

यदि इसी गति से वैक्सीनेशन होगा तो अगले डेढ़ से दो साल तक लोगों को टीका नहीं लगा सकेगा। वैक्सीनेशन नहीं हो पाने के कारण जिले में फिर से संक्रमण फैलने का खतरा बना रहेगा। यदि ऐसा हुआ तो जिले में तीसरी लहर को रोकना भी मुश्किल हो जाएगा। इधर, जिन एज ग्रुप 18+ में वैक्सीनेशन को लेकर उत्साह है, उन्हें टीका लगाने के लिए सरकार के बाद ही डोज कम पड़ गए।

इस कारण 43 दिन में इस एज ग्रुप के सिर्फ 37 हजार 968 को ही पहला डोज लग सका। जो कुल युवाओं के सिर्फ 9.3 प्रतिशत ही है। दूसरा डोज तो अभी मात्र 813 युवाओं को ही लग पाया।

18+ वाले जिन युवाओं में वैक्सीनेशन कराने के लिए उत्साह, उनके लिए सरकार के पास डोज ही नहीं, नतीजा... सिर्फ 9 प्रतिशत को ही लग सका पहला डोज

अगले 10 दिन में हम 60 हजार लोगों को कवर करेंगे
वैक्सीनेशन को बढ़ाने के लिए अब सोमवार से महा अभियान शुरू किया जा रहा है। इसके तहत हर दिन 6100 लोगों के वैक्सीनेशन का लक्ष्य रखा गया है। अभियान के दौरान अगले 10 दिन में ही हम 60 हजार नए लोगों को कवर कर लेंगे।- डॉ. हिमांशु शर्मा, सीएमएचओ अशोकनगर

हेल्थ वर्कर्स और शासकीयकर्मी भी नहीं लगवा रहे दूसरा डोज
जिले के कुल 4246 शासकीय कर्मचारियों को फ्रंट लाईन वर्कर मानते हुए पहला डोज तो लगा दिया गया। लेकिन इनमें से सिर्फ 3090 ने ही दूसरा टीका लगाया। जबकि 37.3 प्रतिशत यानी 1156 कर्मचारियों ने अब तक दूसरा टीका नहीं लगाया। ऐसे ही हेल्थ वर्कर्स में 4593 ने पहल टीका लगवा लिया।

लेकिन इनमें से दूसरा टीका सिर्फ 62 प्रतिशत यानी 2853 ने ही टीका लगाया। जबकि 1740 ने अब तक दूसरी बार टीका नहीं लगवाया। वैक्सीन की रफ्तार में तेजी लानी चाहिए।

80.1 प्रतिशत को अब तक टीका नहीं लगने से खतरा बरकरार
18 साल से ज्यादा उम्र के ही जिले में 6 लाख 4 हजार 839 लोग है। जिन्हें टीका लगना है। लेकिन इनमें से अब तक सिर्फ 1 लाख 20 हजार 366 का ही वैक्सीनेशन हुआ। जो 19.9 प्रतिशत है। ऐसे में 4 लाख 84 हजार 473 लोगों को अब तक पहला टीका ही नहीं लगा।

इस कारण जिले में अब भी संक्रमण का खतरा बना रहेगा। पहला डोज ले चुके 19.9 प्रतिशत लोगों में से भी सिर्फ 17 हजार 324 लोगों को दूसरा डोज लगा है। फिलहाल सिर्फ इनको कोरोना से सुरक्षित मान सकते हैं।

खबरें और भी हैं...