पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विरोध:हड़ताल कर रहे व्यापारियों के ट्रक निकले तो किसान संघ ने गेट पर लगा दिया ताला

अशोकनगर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • यूरिया और फसल बीमा की सूची मांगी तो किसानों की कृषि उपसंचालक से हुई बहस
  • किसान संघ के पदाधिकारियों ने लगाए आरोप, यूरिया का एक दाना तक नहीं, पिछले साल जैसी फिर बनेगी स्थिति
  • किसानों से बहस के बाद डीडीए ने कहा- अगर मैं पसंद नहीं हूं तो ट्रांसफर करा दो

मंडी में व्यापारियों की हड़ताल के बाद भी उनके गोदामों से ट्रकों के आवागमन पर किसान संघ ने ऐतराज जताया है। शुक्रवार को इस बात का विरोध करते हुए भारतीय किसान संघ के पदाधिकारियों ने मंडी के मुख्य गेट पर ताला लगाकर चाबी अपने पास रख ली। वहीं यूरिया और फसल बीमा की जानकारी लेने किसान जब कृषि उपसंचालक कार्यालय पहुंचे तो वहां भी उनका कृषि उपसंचालक से तीखी बहस हुई। इस दौरान किसान उपसंचालक पर जानकारी न देने के आरोप लगाते रहे वहीं झल्लाएं उपसंचालक ने दोनों हाथ जोड़ते हुए स्थानांतरण कराने की मांग तक पदाधिकारियों से कर दी।

24 सितंबर से व्यापारियों की हड़ताल शुरू हो गई। वहीं कृषि उपज मंडी के कर्मचारियों की हड़ताल शुक्रवार से शुरू हुई। तुलावटियों की हड़ताल करीब 26 दिन से जारी है। मंडी में सुबह जब किसान संघ के पदाधिकारी पहुंचे तो हड़ताल के बाद व्यापारियों के गोदाम से आ-जा रहे ट्रकों के आवागमन पर उन्होंने विरोध दर्ज कराया। जब हड़ताल की वजह से उनकी बात अनसुनी रही तो किसान संघ के प्रदेश मंत्री जगराम सिंह यादव, संघ के जिलाध्यक्ष रामकिशन रघुवंशी की मौजूदगी में किसानों ने मेन गेट पर ताला लगा दिया। संघ के पदाधिकारियों ने कहा कि अब जब मंडी खुलने की स्थिति में आ जाएगी तो वे ताला खोल देंगे। वहीं उन्होंने ताला न तोड़ने की हिदायत भी कर्मचारियों को दे डाली।

इस बात से नाराज हैं किसान

किसान संघ का आरोप है कि 180 हलके फसल बीमा से छूट गए हैं। हर गांव में 10 से 20 किसान छूटे हैं। जब इसकी जानकारी पूछी जाती है तो जवाब नहीं दिया जाता। फसल बीमा के नाम पर किसानों को लूटा जा रहा है, वहीं जिले के 333 हलकों में से कुछ ही हलकों में क्राप कटिंग हुई है। वहीं जहां फसल नष्ट हुई है, वहां पंचायत में पटवारी और ग्राम सेवक नुकसान की सूची नहीं लगा रहे हैं।

इधर कृषि उपसंचालक ऑफिस में हुआ विवाद, डीडीए पर अपशब्द बोलने के आरोप लगाए

मंडी में ताला लगाकर फसल बीमा की सूची और यूरिया की जानकारी लेने जब संघ के पदाधिकारी कृषि उपसंचालक एसके माहोर के कक्ष में पहुंचे तो वहां उनका आपस में विवाद हो गया। किसान संघ के पदाधिकारियों का आरोप है कि डीडीए साहब ने उनको देखते ही कहा कि यहां क्या करने आए हो। इसके बाद दोनों पक्षों में तीखी बहस होने लगी। किसान संघ के पदाधिकारियों ने उन पर अपशब्दों का उपयोग करने के आरोप लगाए तो दूसरी तरफ डीडीए श्री माहोर ने यहां तक बोल दिया कि आपको पंसद नहीं हूं तो मेरा स्थानांतरण करवा दो।

दोनों ने एक-दूसरे पर ये आरोप लगाए

बीमा राशि की सूची मांगने के अलावा यूरिया की जानकारी लेने गए थे। इस बीच हमारे प्रदेश मंत्री जी को देखकर साहब भड़क गए। उन्होंने बाहर निकल जाने तक बोल दिया।
रामकिशन रघुवंशी, जिलाध्यक्ष भारतीय किसान संघ

इस तरह किसानों से व्यवहार करने वाले डीडीए को बर्खास्त कर देना चाहिए। ये शब्द गलत हैं कि तू क्या कर लेगा। हम कोई अपना व्यक्तिगत काम तो लेकर नहीं गए थे। किसानों को जो मुआवजा की राशि आई है उसकी सूची मांगने पर उन्होंने अभद्र व्यवहार कर दिया।
जगराम सिंह यादव, प्रदेश मंत्री भारतीय किसान संघ

किसान समस्या को लेकर आए थे। उन लोगों ने कुछ इस तरह के शब्द बोले तो मैंने कहा कि अगर आपको पसंद नहीं हूं तो मेरा स्थानांतरण करवा दो। जिले में अभी 16 हजार 450 किसानों की सूची मिली है। 10 दिनों में सभी पात्रों के खातों में राशि पहुंच जाएगी।
एसके माहोर, कृषि उपसंचालक

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय निवेश जैसे किसी आर्थिक गतिविधि में व्यस्तता रहेगी। लंबे समय से चली आ रही किसी चिंता से भी राहत मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद तथा सकून दायक रहेगा। ...

    और पढ़ें