नारेबाजी / राष्ट्रव्यापी विरोध दिवस पर श्रमिकों ने राष्ट्रव्यापी विरोध दिवस पर श्रमिकों ने

X

  • सरकार की श्रमिक विरोधी नीतियों के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की।

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

अशोकनगर. सभी केंद्रीय श्रमिक संगठनों, महासंघों और एसोसिएशनों, राज्य कर्मचारी संघ आदि ने पूरे देश में श्रमिकों पर हो रहे हमलों, श्रम कानून में भारी तब्दीली, प्रवासी श्रमिकों की अकथनीय स्थिति, सार्वजनिक क्षेत्र को देशी/विदेशी निजी हाथों में सौंपने आदि के खिलाफ 22 मई को राष्ट्र व्यापी विरोध दिवस आयोजित किया गया। 
इस दौरान श्रमिकों ने सीटू कार्यालय के सामने इकट्ठे होकर सरकार की श्रमिक विरोधी नीतियों के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। सीटू जिला संयोजक गणेशराम रजक ने बताया कि यह आंदोलन प्रदेश में श्रम सुधारों के नाम पर कारखानों में 12 घंटे की पाली, श्रम कानूनों के परिपालन के लिए निरीक्षण पर रोक, ठेका श्रमिकों के लिए ठेकेदारों की मनमर्जी, दुकानों एवं संस्थानों में 18 घंटे का काम की व्यवस्था कायम करने की शिवराज   सरकार की घोषणा के खिलाफ केंद्र सरकार द्वारा घोषित पैकेज में इन मुद्दों के समाधान के लिए कुछ भी नहीं है। 
इस अवर पर मुन्नालाल कारीगर, करन सिंह, ओमकार, वीरेंद्र, मनोज बनर्जी, फूल कुंअर बाई, बादाम सिंह, भवनलाल, अंशी, सोनू लाला सिंह आदि ने सोशल डिस्टेंसिंग के साथ विरोध प्रदर्शन किया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना