पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्रवचन:धरती पर भार न बनें बल्कि आभारी बनकर आत्मा का कल्याण करें

आष्टा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • पंच कल्याणक महोत्सव में हुए मुनिश्री के प्रवचन

जन्म लेकर पृथ्वी पर भार न बनें बल्कि आभारी बन के अपनी आत्मा का कल्याण करें। मनुष्य जीवन के लिए देवता भी तरसते हैं। महापुरुषों के प्रेरणास्पद जीवन से शिक्षा लेते हुए हमें अपने जन्म को सार्थक करना चाहिए। पुण्यशाली मां की कोख से भव्य जीवों का जन्म होता है। तीर्थंकर प्रकृति का बंध अनेक जन्मों के संचित पुण्य से ही संभ होता है। मनुष्य जन्म लेकर मानवता को अपनाना ही होगा तभी हम आत्मा का कल्याण करके जन्म-मरण के चक्र से मुक्ति पा सकते हैं।

यह बात मुनिश्री अजित सागर जी महाराज ने ग्राम मैना में चल रहे पंच कल्याणक महोत्सव में शुक्रवार को भगवान के जन्मकल्याणक दिवस पर प्रवचन में कही। मुनिश्री ने कहा कि तीर्थंकर बालक के जन्मते ही संपूर्ण परिवेश में दिव्यता और खुशहाली छा जाती है।

भगवान के अभिषेक से अनेक जन्मों के पाप नष्ट हो जाते हैं । हमें लोक व्यवहार में बोल-चाल, रहन-सहन, खान-पान की मर्यादा और शुचिता का ध्यान रखते हुए मन और आत्मा की पवित्रता के लिए व्रत, संयम, नियम और त्याग को भी अपनाना चाहिए। दान शीलता, करुणा, क्षमा और सेवा भी सफल जीवन के लिए आवश्यक है। एलक विवेकानंद सागर ने पंच कल्याणक की महत्ता बताई।

भगवान के जन्म के साथ ही झूम उठे लोग : यहां भगवान के जीवन का मंचन भी किया जा रहा है। शुक्रवार को भगवान के जन्म के साथ ही हर्ष के वातावरण में मंगल ध्वनि, देव दुंदुभि और गगनभेदी जयकारों के बीच भक्तिमय माहौल में समूचा आयोजन स्थल झूम उठा। इस दौरान चल समारोह भी निकला, जिसमें जैन समाज के साथ ही क्षेत्र के लोग भी शामिल हुए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ऊर्जा तथा आत्मविश्वास से भरपूर दिन व्यतीत होगा। आप किसी मुश्किल काम को अपने परिश्रम द्वारा हल करने में सक्षम रहेंगे। अगर गाड़ी वगैरह खरीदने का विचार है, तो इस कार्य के लिए प्रबल योग बने हुए...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser