कीमती भूमि को अतिक्रमणकारियों से कराया मुक्त:प्रशासन की टीम ने सख्ती से हटाया श्मशान की जमीन का अतिक्रमण

बेगमगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रशासन की संयुक्त टीम वेश कीमती जमीन का अतिक्रमण हटाती हुई। - Dainik Bhaskar
प्रशासन की संयुक्त टीम वेश कीमती जमीन का अतिक्रमण हटाती हुई।

प्रशासन ने गुरूवार को नगर के श्मशान घाट की भूमि पर बने कच्चे पक्के 12 मकानों को जेसीबी मशीनों से ढहा कर लगभग पन्द्रह करोड़ रुपए की बेश कीमती भूमि को अतिक्रमणकारियों से मुक्त कराया। इसके अलावा भी एक कॉलोनाइजर से श्मशान की करोड़ों की भूमि मुक्त कराई। एसडीएम अभिषेक चौरसिया,सीएमओ धीरज शर्मा,एसडीओपी सुनील कुमार,थाना प्रभारी राजपाल सिंह जादौन,तहसीलदार एनएस परमार तीन थानों की पुलिस बल, राजस्व अमला, नपा अमले मौजूद रहा।

पांच दिन पहले दिए थे नोटिस
प्रशासन द्वारा अतिक्रमणकारियों को पांच दिन पूर्व ही नोटिस दिये थे कि स्वयं तीन दिवस के अंदर अपने अपने अतिक्रमण को हटा ले नही हटाने की स्थिति में प्रशासन सख्ती से हटा देगा, लेकिन अतिक्रमणकारियों ने अतिक्रमण स्वयं नहीं हटाया जिसके चलते प्रशासन ने गुरुवार को तीन जेसीबी मशीनों के जरिए भारी पुलिस बल तैनात कर अतिक्रमण हटाया।

हिंउस ने की थी अतिक्रमण हटाने की मांग
हिन्दु उत्सव समिति बेगमगंज द्वारा मरघट की शासकीय भूमि पर किये गये अतिक्रमण को हटाने तहसीलदार से सीमांकन की मांग की थी। जिसमें पन्द्रह व्यक्तियों का मरघट की शासकीय भूमि पर अतिक्रमण पाया गया था।

जिसमें विद्या गुप्ता, महेन्द्र कुमार एवं अन्य द्वारा बेगमगंज एसडीएम कोर्ट के समक्ष अपील प्रस्तुत की गयी थी जो निरस्त हो गयी थी। अतिक्रमण कर्ता शिव प्रसाद साहू, संतोष कुमार तिवारी ने उच्च न्यायालय जबलपुर में रिट याचिका लगाई थी। उच्च न्यायालय द्वारा जिला कलेक्टर से जिला स्तर के जांच दल की टीम गठित कर सीमांकन रिपोर्ट पेश करने को कहा था। ग्राम गंभीरिया स्थित खसरा क्रमाक 78 के अंश भाग पर 17 व्यक्तियों का कब्जा था।

खबरें और भी हैं...