काम-धंधा:प्राइवेट स्कूलों की तीन माह की फीस माफ करवाने मुख्यमंत्री से लगाई गुहार

बेगमगंज6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लॉकडाउन के चलते सभी वर्ग के लोगों का काम-धंधा, व्यापार व व्यवसाय बंद पड़ा है। अभी लोग अपनी दैनिक ज़रूरतें पूरा कर पाने में भी असमर्थ हो रहे हैं। साथ ही यह लॉकडाउन कब खुलेगा इसकी भी कोई गारंटी नहीं है । गारंटी तो इस बात की भी नही है कि बाजार खुलते ही लोगों की आर्थिक परेशानियां समाप्त हो जाएंगी। ऐसे में जब स्कूल खुलेंगे तो फीस जमा करना पड़ेगी। यह एक बहुत बड़ा खर्च प्रत्येक वर्ग के लोगों के लिए होता है। अभी काम धंधा ठप होने के कारण फीस जमा करना असंभव है।

अभिभावकों में एडवोकेट गण बद्रीविशाल गुप्ता, चांद मियां, वजीर खान, गुफरान अली, सईद नादां, विनय खरे, राजेन्द्र सिंह सोलंकी सहित डॉ. नसीम अली, पत्रकार नसीम खान, राकेश श्रीवास, सुभाष रैकवार, अरहम सौदागर, मिथलेश दुबे, पं. राकेश भार्गव, भरत पटेल, शादाब मंसूरी आदि अभिभावकों ने मांग की है कि सीएम से तीन माह की स्कूल फीस माफ करवाने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...