पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मलेरिया माह:घर-घर हो रहा है मलेरिया का पता लगाने सर्वे

बेगमगंजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जून में मलेरिया माह के रूप में स्वास्थ्य विभाग द्वारा मनाया जाता है

जून माह मलेरिया माह के रूप में स्वास्थ्य विभाग द्वारा मनाया जाता है, जिसको लेकर मलेरिया के प्रति लोगों को सचेत करने स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा घर-घर पहुंचकर मलेरिया लार्वा की जांच की जा रही है। वहीं लोगों को मलेरिया रोग के तेजी से फैलने के कारण ही बताए जा रहे हैं।

सीबीएमओ डॉ संदीप यादव के मार्गदर्शन में स्वास्थ्य विभाग की टीमें शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में पहुंच कर लोगों को मलेरिया रोग का तेजी से फैलने का कारण एनाफिलीज मच्छर के बारे में जानकारी दे रहे हैं । लोगों को बता रहे है कि मादा मच्छर ही मलेरिया फैलाती है।

मादा एनाफिलीज की खासियत यह है कि यह सूरज की रोशनी में सुबह शाम ही काटती है दिन के समय लगभग निष्क्रिय रहती है। स्वास्थ्य विभाग ने मलेरिया से जुड़ी जानकारी जारी कर लोगों को मच्छरों से बचाव के तरीके बताएं जिनमें कई रोचक जानकारियां दी गई है।

साथ ही इसमें मलेरिया व बचाव और रोकथाम व इलाज के उपाय भी बताए जा रहे हैं। स्वास्थ्य कार्यकर्ता गांव-गांव लोगों को जानकारी उपलब्ध कराएं इसको लेकर बकायदा ब्लॉक चिकित्सा अधिकारी डॉ संदीप यादव ने स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण देकर ग्रामीण क्षेत्रों में और नगरीय क्षेत्र में भेजा है।

बचाव के उपाय बताए
मच्छर सबसे ज्यादा ठहरे पानी में कूलर एसी के आसपास होते हैं। गंदे नाले ठसाठस भरी नालियों में भी यह खूब पनपते हैं। जहां कहीं भी पानी का ठहराव हो गंदा पानी एकत्रित हो, उसे निकालते रहे हैं। कूलर का पानी दो-तीन दिन में बदलते रहे। लंबे समय से रुके पानी में हल्का सा केरोसिन या पेट्रोल या जला हुआ आयल डाला जा सकता है। इससे मच्छर मच्छर का लार्वा नष्ट हो जाता है।

खबरें और भी हैं...