कार्यक्रम:शहीद ऊधम सिंह के 80वें बलिदान दिवस पर वस्त्र बांटे

ब्यावरा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • खुशियों के ओटले ने 110 जरूरतमंद महिलाओं को कपड़े बांटकर मनाया शहीद दिवस

पुलिस थाने के पीछे संचालित सामाजिक संस्था खुशियों के ओटले पर रविवार को अमर शहीद ऊधम सिंह का 80 वां शहीद दिवस मनाया गया। शहीद उधम सिंह के चित्र पर माल्यार्पण कर उन्हें याद किया गया। खुशियों के ओटले के मुख्य सेवादार सुरजीत सिंह ने कहा कि शहीद ऊधम सिंह का जन्म 26 दिसंबर 1999 को पंजाब के संगरूर जिले के सुनाव गांव में हुआ था।

ऊधम सिंह ने 13 अप्रैल 1919 को जलियांवाला बाग में हुए कत्लेआम का बदला लेने के लिए कत्लेआम के आरोपी माइकल ओ डायर को 13 मार्च 1940 को उसी की जमीन पर जाकर मार दिया था। मरने के बाद ऊधम सिंह ने वहां से भागने की कोशिश नहीं की, बल्कि वो सरेंडर हो गए। उन पर मुकदमा चला और 4 जून 1940 को उन्हें हत्या का दोषी ठहराया गया।

31 जुलाई 1940 को उन्हें पेंटनविले जेल में फांसी दे दी गई। उधम सिंह का भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में बहुत बड़ा योगदान है। जिन्होंने देश की आजादी के लिए हंसते-हंसते अपने प्राणों की आहुति दे दी। हमें उनके जीवन से देशभक्ति की प्रेरणा लेनी चाहिए। आज हम उनके बलिदान के कारण ही स्वतंत्र है। इस मौके पर बड़ी संख्या में बच्चे और महिलाएं शामिल रही। खुशियों के ओटले पर 110 महिलाओं को कपड़े बांटे।

खबरें और भी हैं...