पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मौसम का असर:33 केवी के 5 खंभे टूटने से 32 गांवों में रहा अंधेरा श्रीधाम कॉलोनी में रात 2 बजे हुई बिजली सप्लाई

ब्यावरा20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कनेड 33 केवी लाइन का एक बिजली खंबा खेत में गिरा हुआ। - Dainik Bhaskar
कनेड 33 केवी लाइन का एक बिजली खंबा खेत में गिरा हुआ।
  • तेज हवा के कारण शहर सहित ग्रामीण अंचल में खासी प्रभावित हुई बिजली व्यवस्था

शनिवार की शाम तेज हवा और बारिश के कारण शहर सहित ग्रामीण अंचल में बिजली व्यवस्था खासी प्रभावित हुई। सबसे ज्यादा परेशानी सुठालिया क्षेत्र के लोगों को हुई। कनेड ग्रिड में 33 केवी लाइन के पांच खंबे तेज हवा से टूटकर खेतों में गिर गए, जिससे सुठालिया के 32 गांव अंधेरे में रहे।

वहीं शहर में श्रीधाम कॉलोनी में रात 2 बजे बिजली आई। हवा से बिजली व्यवस्था इतनी प्रभावित हुई है कि रविवार की दोपहर भी मरम्मत कार्य चलता रहा और इस कारण कई बार बिजली गुल हुई। सुठालिया से पांच किलोमीटर दूर कनेड ग्रिड के पांच बिजली खंबे शनिवार शाम करीब 6 टूटने और वैष्णोदेवी मंदिर के पीछे पोल टूटने से बिजली व्यवस्था ठप्प हो गई। इससे करीब 32 गांवों में लोगों ने रात अंधेरे में बिताई। यहां बिजली व्यवस्था बहाल करने के लिए रविवार दोपहर भी काम चलता रहता। नेवली, कनेड, गोला खेड़ा, खानोटा, नापानेरा, टोनका में बिजली खंबे गिरे।

श्रीधाम कॉलोनी में रात 2 बजे आई बिजली

शहर में शनिवार की रात और रविवार की दोपहर भी लोग बिजली के बार-बार आने जाने से परेशान हुए। पावर ट्रांसफार्मर शहीद कॉलोनी में शनिवार रात जंपर टकराने से बिजली चली गई। रात 2 बजे सप्लाई बहाल हो सकी।

हवा और पानी से आई परेशानी

हवा और पानी के कारण बिजली सप्लाई प्रभावित हुई। सुठालिया में ज्यादा नुकसान हुआ। शहर में भी कई सर्विस लाइन और बिजली केबल टूटीं। एक ट्रांसफार्मर में चिंगारी निकलीं। सभी जगह बिजली सप्लाई सुचारू करने मरम्मत कराई गई। शनिवार शाम से अंधेरे में डूबे सुठालिया के 32 में रविवार दोपहर 2 बजे के बाद बिजली व्यवस्था बहाल कराई।
-उमेश विश्वकर्मा, एई बिजली कंपनी ब्यावरा

खबरें और भी हैं...