केदारनाथ में हुए प्रधानमंत्री के कार्यक्रम का देखा सीधा प्रसारण‎:नई शिक्षा प्रणाली में वास्तविक इतिहास‎ का भी रखा गया है ध्यान: सबनानी‎

ब्यावरा‎एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हमारी शिक्षा प्रणाली द्वारा हमें भारत‎ की धरोहरों, वास्तविक इतिहास से‎ दूर रखा गया। देश के इतिहास, देश‎ के लिए योगदान देने वालों को‎ दरकिनार कर सही जानकारी नहीं‎ दी गई, जबकि ऐसे लोगों को‎ महिमामंडित किया गया जिन्होंने‎ देश पर आक्रमण किए।

यहां की‎ संस्कृति, सभ्यता के साथ‎ खिलवाड़ किया, किंतु अब देश के‎ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में‎ देश के इतिहास को दुरुस्त करते‎ हुए सही इतिहास को रखने वाली‎ शिक्षा प्रणाली तैयार की जा रही है।‎

आने वाली पीढ़ी को अब भारत के‎ सही इतिहास के बारे में जानकारी‎ मिल सकेगी।‎ यह बात केदारनाथ धाम में ‎ प्रधानमंत्री द्वारा विकास कार्यों के ‎लोकार्पण, भूमिपूजन कार्यक्रम के‎ सीधे प्रसारण के शहर के श्री ‎​​​​​​​अंजनीलाल धाम के भगवान ‎ज्योतिलिंग महादेव मंदिर प्रांगण में ‎आयोजित कार्यक्रम में भाजपा के‎ प्रदेश महामंत्री भगवानदास‎ सबनानी ने कही।

उन्होंने कहा कि‎ हमें आज तक इतिहास में अकबर ‎महान, बाबर, हुमायूं की कहानी‎ पढ़ाई गई है, आदि गुरु शंकराचार्य‎ को नहीं पढ़ाया, जिन्होंने 87 स्थानों‎ पर शिवालयों, ज्योतिर्लिंगेश्वर की ‎स्थापना की।‎

70 साल सत्यता से दूर‎ रखा अब सामने है
सांसद‎ कार्यक्रम में सांसद रोडमल नागर‎ ने कहा कि देश की आजादी के‎ 70 साल बाद तक जिस सत्यता‎ से दूर रख गया अब उसे एक-एक‎ कार्यक्रम कार्यक्रम, संकेत-संकेत,‎ व्यवहार के माध्यम से संदेश देते‎ हुए प्रधानमंत्री बता रहे हैं, हमारी‎ संस्कृति, हमारे आदर्श, जीवन‎ पद्धति, जीवन जीने की दिशा,‎ आदर्श कौन है कैसे होना चाहिए,‎ जीवन का उद्देश्य क्या है, इसे हम‎ समझ रहे हैं।मंच पर जिला‎ भाजपाध्यक्ष दिलवर यादव, पं‎ प्रमोद नागर मंच पर थे।‎

खबरें और भी हैं...