बिजली सप्लाई:इंदाैर-चंडीगढ़ एक्सप्रेस के पहिए सुलगे, झंडी दिखाने पर भी नहीं रुकी ट्रेन, बिजली बंद की

ब्यावरा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तीन डिब्बों के पहियों से निकल रहा था धुआं, चांचौड़ा में स्टेशन मास्टर ने देखा

गुरुवार को सुबह करीब 11 बजे ब्यावरा से गुना की तरफ चली इंदौर-चंडीगढ़ एक्सप्रेस के तीन काेच के पहिए कुछ ही देर बाद सुलग गए। इससे ट्रेन के तीन बोगियों के नीचे पहियों से धुआं निकल उठा। ट्रेन जब चांचौड़ा स्टेशन से गुजरी तब यह बात मालूम चल पाई। इस पर ट्रेन को चांचौड़ा और कुंभराज के बीच गेट नंबर 100 पर रोका गया।

ट्रेन को रोकने लाल झंडी दिखाई गई थी पर वह नहीं रुकी तो ओएचई यानि ओवर हेड इलेक्ट्रिक लाइन की बिजली सप्लाई रोक कर ट्रेन को आपातकाल में रोका गया। चांचौड़ा रेलवे स्टेशन से पहले पेंची के गेट से जब यह ट्रेन गुजरी तो गेटमैन ने इसकी कुछ बोगियों के नीचे से धुंआ उठते हुए देखा। उसने तुरंत इसकी सूचना चांचौड़ा के स्टेशन प्रबंधक रविचंद्र मीना को दी। मीणा के मुताबिक चूंकि चांचौड़ा स्टेशन पर इस ट्रेन का स्टॉपेज नहीं है तो उन्होंने वॉकी-टॉकी पर ट्रेन के लोको पायलट एवं गार्ड से संपर्क करने की कोशिश की, लेकिन कोई जवाब नहीं आया।

ट्रेन स्टेशन के करीब आती हुई दिखी। मीणा और स्टेशन के पाइंटमैन ने लाल झंडी दिखाकर उसे रुकने का इशारा भी किया। पर न तो ड्राइवर, न गार्ड ने इस संकेत पर कोई प्रतिक्रिया दी और ना ही ट्रेन रोकी। इस पर मीणा ने तुरंत इसकी सूचना मुख्य कंट्रोल रूम भोपाल को दी। तब ओएचई की बिजली बंद करके ट्रेन रोकी गई।

खबरें और भी हैं...