पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

रास्ते में गड्ढों का रोड़ा:मप्र और उप्र काे जोड़ने वालेे राजघाट पुल की हालत खस्ता, पुल पर हुए गड्ढे, निकले सरिए

चंदेरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गड्ढाें के चलते 26 अगस्त को बह गए थे जीजा साला, एक की हो चुकी है मौत

मप्र और उप्र को जोेड़ने वाले राजघाट के पुल की हालत बहुत ही दयनीय हो चुकी है। पुल पर बड़े-बड़े गड्ढे हाे गए और सरिए भी निकल आए। जहां से हर दिन जान जोखिम में डालकर लोग निकल रहे हैं। इन गड्ढों के कारण 26 अगस्त को दो बाइक सवार राजघाट में डूब गए थे जिनमेें से एक की मौत भी हो चुकी है। बावजूद इसके उसकी दशा सुधारने पर गौर नहीं किया जा रहा।

बारिश के दौरान इस बांध पर पानी ही पानी था। ऐसे में इस पर से निकलना खतरे से कम नहीं है। बारिश के सीजन के चलते इसका काम नहीं हाे पा रहा था लेकिन अब बारिश बंद हो गई हैं फिर भी जिम्मेदार इसे सुधरवाने की दिशा में कोई कदम फिलहाल नहीं उठा रहे। जबकि सबसे ज्यादा रिस्क अब बढ़ गया है। क्योंकि अब भारी संख्या में वाहन इस पुल से निकल रहे हैं। वर्तमान में जगह-जगह से उखड़ गया है उनके ऊपर का जगह-जगह गड्ढे हो गए हैं पुल पर कई जगह सरिया भी दिखाई दे रहे हैं जो कि दुर्घटनाओं का सबब बन सकते हैं।

बारिश में इस पुलिया पर पानी ही पानी था, वाहन चालकों को हो रही है परेशानी

लोग बोले नेता उठाएं नए पुल की मांग रहवासी विकास श्रीवास्तव, रामकिशोर मिश्रा, नवल शर्मा, योगेश चौबे, देवेंद्र मिश्रा, अब्दुल सलीम, अब्दुल कलीम मुजफ्फर अहमद ने पेंच रिपेयर की मांग रखी। उन्होंने कहा नए पुल के बनाए जान के लिए नेता और राजनैतिक लोग भी प्रयास करं। ताकि पुल टूटने से पहले नया पुल बन सके।

एस्टीमेट तैयार कर रहे हैं

मप्र और उप्र को जोड़ने वाले पुल पर हो रहे गड्ढोें के रिपेयर के लिए एस्टीमेट तैयार कर लिया है। जल्द ही उच्च अधिकारियों के लिए स्वीकृति के लिए भेजेंगे।
इंजीनियर बीएन शर्मा, एसडीओ राजघाट बांध

यह करना चाहिए : बारिश से पहले होना चाहिए मरम्मत

पुल की जो हालत है उसे देखते हुए उसकी मरम्मत तत्काल होना चाहिए। ताकि पुल से निकलने वाले लोगों को किसी तरह की अनहोनी का सामना न करना पड़े। फिर भी अगली बारिश से पहले अगर काम पूरा हो जाए तो लोगों कोे राहत मिलेगी। साथ ही पुल से निकलते समय भी किसी तरह का खतरा नहीं महसूस होगा। इसके लिए प्रशासनिक अधिकारी व राजघाट डेम के अधिकारियों के बीच आपस में समंजस्य बनना जरूरी है।

3 से 4 दिन चला था रेस्क्यू

26 अगस्त को राजघाट के पुल पर हो रहे गड्ढों पर से निकलते समय बाइक सवार जीजा साला बह गए थे, जिनमें से एक को करीब 1 किमी दूर से रेस्क्यू चलाकर बचाया था। जबकि दूसरे की खोज 3 से 4 दिन उप्र और मप्र की टीमों ने की थी लेकिन उसका सुराग नहीं लगा था। इस दौरान तेज बारिश से डेम का पानी बढ़ गया था।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज समय बेहतरीन रहेगा। दूरदराज रह रहे लोगों से संपर्क बनेंगे। तथा मान प्रतिष्ठा में भी बढ़ोतरी होगी। अप्रत्याशित लाभ की संभावना है, इसलिए हाथ में आए मौके को नजरअंदाज ना करें। नजदीकी रिश्तेदारों...

और पढ़ें