ऐसे कैसे टाॅप रहेंगे हम:कचरा कलेक्शन हो रहा न सफाई सीएम हेल्पलाइन पहुुंची शिकायतें

अशोकनगरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीएम हेल्पलाइन पर 450 में आधी से अधिक शिकायतें सफाई न होने की

नगरपालिका के पास कागजों पर दिखाने के लिए भारी-भरकम सफाई अमला है। हर वार्ड के लिए अलग से कचरा गाड़ी, 2 ट्रैक्टर-ट्राली, डंपर सहित अन्य संसाधन मौजूद हैं लेकिन इतना सब होने के बाद भी शहर की सफाई व्यवस्था खराब चल रही है। शहर की सफाई की सेहत ठीक न होने का एक सबसे बड़ा कारण नियमित मॉनीटरिंग न होना है। शहर के मुख्य मार्गो पर ही कचरा प्वाइंट बनाए गए हैं, जिनसे कचरा उड़कर सड़क पर उड़ता रहता है। स्वच्छता सर्वेक्षण के चलते हर बार कचरा प्वाइंट हटाने के लिए प्लान बनाया जाता है लेकिन इस पर अमल कभी नहीं किया।
हाल ही में स्वच्छता सर्वेक्षण के परिणाम घोषित किए गए थे जिसमें नगरपालिका ने टॉप 5 में अपनी जगह बनाई लेकिन हकीकत कुछ अाैर है। स्वच्छता सर्वे शुरू होने के एक माह पहले से ही नपा के अधिकारियों में हलचल होती है। सर्वे होने के बाद शहर की सफाई व्यवस्था फिर बेपटरी हो जाती है। पिछले साल सिर्फ स्वच्छता अभियान में नंबर पाने के लिए दिखावटी सफाई की गई थी, जो अब बेहाल है।
सीएमओ व्यवस्था से पूरी तरह संतुष्ट पर लोग बोले कचरा गाड़ी रुकती तक नहीं
कलेक्टर ने निरीक्षण कर दिए थे सुधार के निर्देश

शहर की बिगड़ रही सफाई व्यवस्था का कलेक्टर उमा महेश्वरी निरीक्षण कर चुकी हैं। उन्होंने पूर्व में रहे सीएमओ पीके सिंह को सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने निर्देश दिए थे लेकिन कलेक्टर के आदेश का पालन नहीं हो सका है। जिस विदिशा रोड से अक्सर अफसरों का निकलना होता है उस रोड पर ही कचरे का ढेर लगा रहता है। नपा के पिछले हिस्से में ही गंदगी रहती है। इससे शहर की कॉलोनियों की स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है।

दिसंबर की 35 शिकायतें जिनका हल नहीं किया

लोग सफाई न होने से इतने परेशान हो चुके हैं कि सफाई न होने की शिकायत सीएम 181 पर करने से भी पीछे नहीं हटते। पिछले महीने 450 शिकायतें मिली थी जिनमें से करीब 250 शिकायतें सिर्फ गंदगी और कचरा पड़े रहने की थी। दिसम्बर के 13 दिनों की बात करें तो अभी भी 35 शिकायतें पेंडिंग पड़ी हुई हैं, जिनका कोई भी निराकरण फिलहाल नहीं हुआ।
सीधी बात
अरुण नामदेव, सीएमओ नपा

आप सफाई व्यवस्था से कितने संतुष्ट हैं? मैं नगरपालिका का व्यक्ति हूं इसलिए मैं पूर्णत: संतुष्ट हूं, लेकिन पब्लिक का सहयोग जरूरी है। कचरा प्वाइंट कम नहीं हो रहे, सड़क पर कचरा फैला रहता है? कचरा प्वाइंट पर हम बैग रखवाएंगे। अभी कचरे को मवेशी फैला देते हैं। जल्द से जल्द ये काम कराऊंगा। शहर की कॉलोनियों में गंदगी फैली हुई है, सफाई न होने का कारण क्या है? अभी हेल्थ ऑफिसर, सेनिटेशन इंस्पेक्टर नहीं है। दरोगा हैं उनसे ही काम ले रहे हैं। जहां सफाई की जरूरत है मैं स्वयं अपनी टीम के साथ पहुचूंगा और सफाई कराऊंगा। सफाई न होने की सीएम हेल्पलाइन भी बढ़ रही हैं? हम जल्द ही सुधार कर रहे हैं, जहां जरूरत होगी मैं खुद जाऊंगा। जागरुकता को लेकर क्या करेंगे? हम जल्द ही नपा अमले के साथ शहर में जागरुकता रैली निकालेंगे। लोगों को साफ सफाई रखने के लिए जागरुक करेंगे।

खबरें और भी हैं...