पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhopal
  • Ganjbasoda
  • Before The Last Action, The Family Felt That The Young Man Was Alive, Half An Hour Later, The Doctor, Who Arrived At The Crematorium, Did The Test, Said Died In The Evening.

अपनों को खाेने का गम:अंतिम क्रिया से पहले परिजनों को लगा युवक जिंदा है, आधे घंटे बाद श्मशान पहुंचे डॉक्टर ने किया परीक्षण, बोले- शाम को ही मौत हो चुकी

गंजबासौदाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • श्मशान घाट पर परिजनों ने जिंदा होने की आशंका पर एसडीएम को दी थी सूचना

नगर में बुधवार को एक रोचक मामला सामने आया, जब अंतिम क्रिया से पहले युवक के जिंदा हाेने का अाभास परिजनों को हुआ तो उन्होंने एसडीएम राजेश मेहता को फोन पर बताया था कि उपचार के दौरान जिस युवक को मृत्य बताया गया वह जिंदा है। एसडीएम ने तत्काल ब्लॉक मेडिकल अधिकारी रविंद्र चिढ़ार को विश्राम घाट भेजा। आधे घंटे बाद पहुंचे डॉक्टर ने परीक्षण करने के बाद परिजनों को बताया और समझाया कि युवक की काफी समय पहले मौत हो चुकी। इसके बाद उन्होंने अंतिम संस्कार किया।

दरसअसल, वार्ड 13 के 35 वर्षीय दीपक कुशवाह को परिजन 5 मई सुबह 11 बजे गंभीर हालत में शासकीय चिकित्सालय ले गए थे। उसकी हालत ज्यादा खराब होने के कारण जिला अस्पताल विदिशा रेफर किया गया। जहां जांच के दौरान युवक के शरीर में खून की ज्यादा कमी पाई गई। डॉक्टरों ने उसे तत्काल ब्लड लगाने के लिए कहा। परिजनों को ब्लड का इंतजाम करने को भी बोला,उसे पीलिया था।

मरीज के छोटे भाई राजू का ब्लड ग्रुप भाई से मैच हुआ था, इसलिए उसने अपना ब्लड दिया। जब ब्लड चढ़ाया जा रहा था उसी दौरान शाम 5.30 बजे दीपक की मौत हो गई। परिजन उसे ऑटो में रख कर विदिशा से अपने घर ले आए। रात भर उसका शव घर में ही रखे रहे। सुबह जब अर्थी लेकर पाराशरी विश्राम घाट पर दाह संस्कार करने पहुंचे थे।

खबरें और भी हैं...