पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

अच्छी खबर:कबीट स्टापडैम ओवरफ्लो होने से इस बार नहीं आएगा संकट, दोनों टाइम मिलता रहेगा पानी

गंजबासौदा4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नगर में जल आवर्धन योजना के करीब साढ़े सात हजार कनेक्शन से होता है जल वितरण, गर्मी में नहीं होगी दिक्कत
  • इन्हीं दो महीनों में आती थी पानी की कमी, इसलिए 29 लाख रुपए किया था दाे साल पहले खर्च

बेतवा नौलखी पर कबीट घाट पर बनाए गए जल आवर्धन योजना स्टापडैम से पानी इस साल ओवरफ्लो हो रहा है। इससे इस बार नगर में गर्मी के दिनों में दोनों टाइम जल सप्लाई मिलती रहेगी। 
पानी की कमी नहीं आएगी। हर साल डैम का जल स्तर घट जाता था। किंतु इस साल नहीं घटा वर्तमान में डैम के ऊपर से पानी बह रहा है। वर्तमान में नगर में जल आवर्धन योजना के करीब साढ़े सात हजार कनेक्शन हैं। करीब सौ से ज्यादा आवेदन पेंड़िंग हैं। क्योंकि वर्तमान में सभी वार्डों में कई क्षेत्र अब भी जल आवर्धन योजना की पहुंच से बाहर हैं। यहां पाइप लाइन नहीं है। पूर्व परिषद पाइप लाइन डालने के लिए मंजूरी दे चुकी है। नपा की आर्थिक हालत खराब होने के कारण कार्य पेंडिंग हैं।
बेतवा स्टापडैम में पानी भरपूर है। इससे नगर में गर्मी के दौरान जल सप्लाई के लिए कोई दिक्कत नहीं आएगी।
सुधीर उपाध्याय, सीएमओ नपा गंजबासौदा।
कबीट घाट पर बने डैम की क्षमता 6.2 एमसीएम क्यूबिक मीटर
कबीट घाट पर बने नए स्टापडैम की क्षमता 6.2 एमसीएम क्यूबिक मीटर है। डैम की लंबाई 267 मीटर है। इसमें तीस गेट लगे हुए हैं। वर्तमान में डैम पूरा भरा हुआ है। हर साल गर्मी के दिनों में इसका जल स्तर कुछ कम हो जाता था। लेकिन इस बार जल स्तर में कमी नहीं आई। हर साल इन्हीं दिनों पानी के लिए नगर में कमी आती थी। 
गर्मी के दौरान भी नगर में दोनों समय मिल रही पानी सप्लाई
उपयंत्री अभिषेक बाथम के अनुसार वर्तमान में दोनों समय जल सप्लाई मिल रही है। प्रतिदिन उपभोक्ताओं तक 13 एमएलडी जल दोनों समय पहुंच रहा है। इसके अतिरिक्त जहां पाइप लाइन नहीं है। वहां नलकूपों और हैंडपंपों के माध्यम से प्रतिदिन 2 एमएलडी जल दिया जा रहा है। एक एमएलडी में दस लाख लीटर पानी की मात्रा मानी जाती है। नई योजना की क्षमता 24 एमएलडी पानी प्रतिदिन सप्लाई करने की क्षमता है।
परिषद के साथ वितरण बंद, आर्थिक बोझ कम
परिषद कार्य काल के दौरान गर्मी में जल वितरण पर 29 लाख रुपए तक खर्च होता रहा, लेकिन दो साल से पालिका को जल वितरण का आर्थिक बोझ कम हुआ है। वैसे वर्तमान में नई जल आवर्धन योजना के लिए नगर में छोटी बड़ी 80 किलोमीटर लंबी पाइप लाइन डाली जा चुकी है। इसके बावजूद पुरानी लाइनों को भी कई जगह जोड़ गया। इसके बाद भी वार्डों में करीब पांच किलोमीटर लंबी पाइप लाइनें बिछाने का काम लंबित है।
लगातार घाटे का सौदा बनी रहती है जल योजना
नपा के लिए जल योजना सफेद हाथी है। जितना इस पर खर्च होता है, उतना मिलता नहीं है। इसी कारण यह योजना पालिकाओं को लगातार घाटे का सौदा बनी रहती है।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें