पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

व्यवस्था:नए कोरोना संक्रमितों को विदिशा नहीं नगर के कोविड सेंटर में ही करेंंगे भर्ती

गंजबासौदा9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पचमा बायपास मार्ग स्थित बालिका छात्रावास भवन में बना है केयर सेंटर

विकासखंड के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में मिलने वाले कोविड-19 संक्रमित मरीजों को विदिशा नहीं भेजा जाएगा। उनका उपचार पचमा बायपास मार्ग स्थित बालिका छात्रावास भवन में बनाए गए कोविड-19 केयर सेंटर पर ही किया जाएगा। जैसे ही नया मरीज मिलेगा इसमें उसका उपचार शुरू हो जाएगा। इसकी पूरी तैयारियां हो चुकी हैं। स्टाफ भी तैनात किया जा चुका है। शनिवार को एसडीएम अंजली शाह ने निरीक्षण के बाद इसको प्रारंभ करने की हरी झंडी दे दी।

एक साथ 50 मरीजों का हो सकेगा उपचार : कोविड केयर सेंटर में 50 बिस्तर रहेंगे। दोमंजिला इस भवन में 13 कमरे उपयोग किए जाएंगे। इन सभी कमरों में सीसीटीवी कैमरे मरीजों की निगरानी के लिए लगाए गए हैं। मनोरंजन के लिए शतरंज, लूडो कैरम सहित साहित्यिक पत्रिकाओं की व्यवस्था की गई है। घूमने के लिए लान और गार्डन का उपयोग किया जाएगा। भोजन के लिए अलग हाल की व्यवस्था की गई है। साथ ही नहाने, कपड़े धोने आदि की व्यवस्था भी रखी गई है।

50 बिस्तर होंगे, स्टाफ भी तैनात किया गया, एसडीएम ने किया निरीक्षण

तैयारी हो चुकी है पूरी

सेंट्रल की तैयारी पूरी हो चुकी है। इसका अंतिम निरीक्षण भी किया जा चुका है। जैसे ही जिले से निर्देश मिलेंगे उसी के तहत अगला फैसला लिया जाएगा।
अंजली शाह, एसडीएम गंजबासौदा।

बासौदा और त्योंदा का संयुक्त सेंटर

इस सेंटर पर विकासखंड के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में मिलने वाले संक्रमितों को उपचार के लिए रखा जाएगा। विकासखंड में 2 तहसीलें आती हैं। इसमें बासौदा और त्योंदा को शामिल किया गया है। शहरी क्षेत्र का प्रतिनिधित्व शासकीय चिकित्सालय द्वारा किया जाता है जबकि ग्रामीण क्षेत्र का दायित्व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र त्योंदा पर है। वह दोनों तहसीलों के ग्रामीण क्षेत्रों में उपचार के लिए प्रतिबद्ध है। इसके चलते मरीजों को अब नगर से बाहर नहीं जाना पड़ेगा। सिर्फ ऐसे मरीज को उन परिस्थितियों में भेजने की व्यवस्था रहेगी।

निगरानी व्यवस्था रहेगी

सेंटर में भर्ती मरीजों पर सीसीटीवी कैमरों के माध्यम से निगरानी रहेगी। इससे उनके उपचार में भी आसानी रहेगी। दोनों मंजिलों सहित परिषद में कैमरे लगाए गए हैं। सेंटर को इस प्रकार बनाया गया है कि भर्ती मरीजों को किसी प्रकार की दिक्कत न आए। उन्हें अकेलापन महसूस ने हो लेकिन किसी को भी घर से खाना और नाश्ता मंगाने की इजाजत नहीं रहेगी। जो नाश्ता और खाना नियमानुसार सभी सेंटरों पर मरीजों को दिया जाता है उसी अनुसार यहां भी उपलब्ध कराया जाएगा।

10 लोगों का स्टाफ

सेंटर प्रभारी शासकीय चिकित्सालय बीएमओ डा. रविंद्र चिढ़ार नहीं बताया कि प्रारंभिक स्तर पर एक स्टाफ नर्स, 2 वार्ड बाय, तीन सफाईकर्मी, 3 वार्ड और एक डाक्टर नियुक्त किया गया है। जैसे-जैसे मरीज बढ़ेंगे स्टाफ भी बढ़ाया जाएगा। सेंटर शुरू करने के लिए नए मरीज मिलने का इंतजार है। जैसे ही मरीज मिलेगा। सेंटर काम करना शुरू कर देगा। मरीजों को बाहर का भोजन या सामग्री अलाऊ नहीं होगी न किसी मरीज के परिवार के सदस्यों को अंदर प्रवेश नहीं मिल पाएगा।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें