थोड़ी राहत:बेतवा नदी का जल स्तर कम होने से 3 दिन से बंद मार्ग पर आवागमन शुरू

गंजबासौदा3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • नदी के दोनों पुलों पर कचरा जमा, 24 घंटे में 1.9 सेमी बारिश दर्ज

लगातार हा़े रही बारिश के कारण तीन दिन बेतवा नदी के पुल पर पानी था। यह मार्ग शनिवार को बारिश बंद होने के बाद खुल सका। तीन दिन तक बेतवा नदी दोनों पुलों पर पानी होने के कारण बड़ी मात्रा में कचरा जमा हो गया है। इस कचरे की सफाई का काम चल रहा है। रास्ते खुलने के इंतजार में खड़े कई वाहन आगे की ओर रवाना हो हुए। यह वाहन मार्ग बंद होने के कारण नगर में ही रुके हुए थे। नदी नालों का जल स्तर घटने से बस्तियों में भरा पानी भी कम हुआ। लोगों के मकानों से पानी निकलते ही लोग अपने मकानों की साफ-सफाई में लगे रहे। पिछले 24 घंटे में 1.9 सेमी बारिश दर्ज की गई। अब तक तहसील में 72 सेमी बारिश हो चुकी है जबकि पिछले साल अब तक सिर्फ 49 सेमी ही हुई थी।

खुल गए हैं रास्ते

बेतवा नदी का का जल स्तर कम होने से दोनों पुलों के रास्ते खुल गए हैं। अब तक विकासखंड में कहीं से जन धन हानि की कोई सूचना नहीं है।
-रोशन राय, एसडीएम गंजबासौदा।

भोपाल से गुलाबगंज के रास्ते आए ट्रक बीना और अशोक नगर की ओर रवाना

बेतवा के पुल पर कचरा हो गया है जमा

बेतवा में पानी के साथ बहकर आया कचरा पुल की मंुडियों से टकरा कर जमा हो गया है। उस कचरे को हटाने का काम दोपहर तक प्रारंभ नहीं हो पाया था लेकिन रास्ता खुलने के बाद दोनों पुल से आवागमन प्रारंभ हो गया। भोपाल से गुलाबगंज के रास्ते आए एक दर्जन से ज्यादा ट्रक यहां फसे हुए थे। वह बीना और अशोक नगर की ओर रवाना हो गए।

घरों में पहुंचे लोग, तबाही देखकर दंग रह गए

तीन दिन से लगातार बारिश के कारण नदी नाले का पानी नगर के कई वार्डों की बस्तियों में भर गया था। इससे मकानों के अंदर तक पानी भर गया था। कई लोग मकान छोड़कर सुरक्षित स्थानों पर पहुंच गए थे। अब जैसे ही पानी खाली हुआ लोग अपने घरों में लौटने के बाद घर और सामग्री की हालत देखकर परेशान हैं। लकड़ी कपड़े और खाने की सामग्री तो बर्बाद हो ही गई साथ ही सीलन और दुर्गंध के कारण लोगों का मकान में रहना दूभर हो रहा है। लोग सफाई और गंदगी साफ करने में जुटे रहे।

मकानों में सीलन

महेंद्र लोधी और पूर्व पार्षद पृथ्वी सिंह रघुवंशी का कहना है कि कई मकानों में सीलन के हालात बने हुए हैं। हालात सामान्य होने में कई दिन लग जाएंगे। वार्ड क्रमांक 14 के पूर्व पार्षद अमरीश बिलगैयां ने बताया कि इंद्रा नगर और पंच पीर के कई मकानों की हालात यह हैं कि उनकी सफाई में लोगों को कई दिन लग जाएंगे। पानी तो मकानों से निकल गया लेकिन कचरा और कीचड़ जमा हो गई है। ऐसी ही स्थिति वार्ड क्रमांक 8 और 21 के कई मकानों की है।

बेतवा नदी का फर्स पानी से क्षतिग्रस्त

बर्री घाट बेतवा नदी पुल का फर्स पानी के कारण क्षतिग्रस्त हो गया है। इसी खतरे को देखते हुए। एसडीएम रोशन राय ने पुल मरम्मत के लिए सेतु निगम भोपाल को पत्र लिखा है।

खबरें और भी हैं...